File Photo
File Photo

Loading

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के संदेशखाली (Sandeshkhali Violence) में एक बार फिर तनाव की स्थिती बनी हुई है। बताया जा रहा है कि वहां के बेरमजूर में गुरुवार को हालत तब  तनावपूर्ण हुए जब कुछ स्थानीय महिलाओं ने मामले में फरार चल रहे तृणमूल कांग्रेस से जुड़े आरोपी शाहजहां शेख के भाई पर जमीन हड़पने के आरोप लगाए। बताया यह भी जा रहा है कि इस दौरान कुछ लोगों ने एक झोपड़ी में आग लगा दी। स्थानीय लोगों का आरोप है कि जिन लोगों ने भूमि का गबन किया है, उन्होंने ही उस घर में आग लगाई थी।

सुकांत मजूमदार ने क्या कहा 

इस बीच, बंगाल के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि अगर संदेशखाली की प्रताड़ित महिलाएं प्रधानमंत्री से मिलने की इच्छा जताती हैं तो पार्टी मुलाकात की व्यवस्था करेगी। मजूमदार ने संवाददाताओं से कहा, ”हमें आज पता चला कि प्रधानमंत्री छह मार्च को राज्य का दौरा करेंगे और बारासात में महिलाओं की एक रैली को संबोधित करेंगे।” यह पूछे जाने पर कि क्या प्रधानमंत्री संदेशखाली की महिलाओं से मिलेंगे जो उत्तर 24 परगना जिले में ही स्थित है, मजूमदार से कहा, “अगर संदेशखाली की बहनें और माताएं प्रधानमंत्री मोदी से मिलना चाहती हैं तो हम निश्चित रूप से इसकी व्यवस्था करेंगे।” 

संदेशखाली में हुआ था  हंगामा 

उल्लेखनीय है कि संदेशखाली में बीते मंगलवार को जोरदार हंगामा हुआ था। इस मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की शुरुआती जांच बैठाई गई थी। वहीं इसी दिन कोलकाता पुलिस ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के शुभेन्दु अधिकारी को मौके पर जाने से रोक दिया था। जिसके बाद वह धरने पर बैठ गए थे। हालांकि, कलकत्ता हाईकोर्ट ने बीजेपी नेता को संदेशखाली जाने की इजाजत दे दी थी।  

क्या है मामला 

जानकारी के लिए बता दें कि संदेशखाली में बड़ी संख्या में महिलाओं ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के कद्दावर नेता शाहजहां शेख और उनके समर्थकों पर जबरदस्ती जमीन हड़पने और यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है।  प्रवर्तन निदेशालय की टीम पांच जनवरी को राशन घोटाले के सिलसिले में छापेमारी करने टीएमसी नेता शाहजहां के आवास पर  गई थी, जिसपर भीड़ ने हमला कर दिया था। उसके बाद से शाहजहां फरार है।