WEST-BENGAL

Loading

नई दिल्ली/कोलकाता: जहां एक तरफ ममता के गढ़ पश्चिम बंगाल (West Bengal) के उत्तर 24 परगना स्थित संदेशखाली (Sandeshkhali) में महिलाओं के यौन शोषण का मामला जबरदस्त तरीके से गरमाया हुआ है। वहीं बीते शुक्रवार को भीड़ ने TMC नेता अजित मैती के घर पर हमला कर दिया। इस दौरान गुस्साए लोगों ने उनकी चप्पलों से भयंकर पिटाई की। इसके अलावा लोगों ने उनकी बाइक और उनके घर की बाड़ का हिस्सा भी तोड़ दिया।

TMC नेता की चप्पलों से पिटाई

मामले में लोगों के आरोप है कि अजित मैती अवैध जमीन हड़पने में शामिल था और शाहजहां शेख के साथ वह भी मिला हुआ था। हमले की सूचना मिलने के पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को जैसे तैसे शांत करवाया।

इधर, संदेशखाली में ही गुस्साए स्थानीय लोगों ने शेख शाहजहां के भाई के घर में भी आग लगा दी। इन ग्रामीणों का आरोप था कि, शेख शाहजहां के भाई शिराजुद्दीन ने उनकी 142 बीघा जमीन हड़प ली है। यहां पर भी मौके पर पहुंचकर पुलिस ने मामला शांत करवाया। फिलहाल संदेशखाली के दो थाना क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। संदेशखाली में जमीन हड़पने व महिला उत्पीड़न के मुख्य आरोपी TMC नेता शेख शाहजहां पर अब तक लगभग 100 केस दर्ज हो चुके हैं। उस पर ग्रामीणों से कब्जाई जमीनों पर मछली पालन का अवैध कारोबार करने का आरोप है।

कौन है शाहजहां जिसने मचाया इतना ‘उत्पात’ 

गौरतलब है कि, संदेशखाली में TMC नेता शेख शाहजहां और उसके दो साथियों शिबू हाजरा और उत्तम सरदार पर यह संगीन आरोप है कि वे गाँव की महिलाओं का गैंगरेप कर रहे थे। इस केस में शिबू हाजरा और उत्तम सरदार समेत 18 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। वहीं शाहजहां अब तक फरार है।

जानकारी दें कि, शाहजहां शेख खुद TMC का जिला लेवल का नेता है। वहीं राशन घोटाले में ED ने 5 जनवरी को उसके घर पर रेड की थी। तब शाहजहां के 200 से ज्यादा सपोर्टर्स ने इसी टीम पर हमला किया। हालत यह रही कि, अफसरों को अपनी जान बचाकर भागना पड़ा। तभी से शाहजहां शेख फरार है। हालांकि संदेशखाली के लोगों का कहना है कि वो कहीं नहीं गया, और यही पर छुपा बैठा हैं। 

ममता सरकार को हाईकोर्ट की फटकार

संदेशखाली में इस तांडव को देख कलकत्ता हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने बीते मंगलवार को बंगाल सरकार को फटकारते हुए कहा था कि, शुरुआती तौर पर ये साफ है कि टीएमसी नेता शाहजहां ने लोगों को नुकसान पहुंचाया। जिस शाहजहां पर रेप और जमीन हड़पने के आरोप हैं, ऐसा लगता है कि वो पुलिस की पहुंच से बाहर है। यह चौंकाने वाला है कि समस्या की जड़ में मौजूद एक आदमी अभी तक पुलिस द्वारा पकड़ा नहीं जा सका है। अगर उसके खिलाफ हजारों झूठे आरोप हैं, लेकिन इनमें अगर एक भी आरोप सही है तो आपको उसकी जरुर जांच करनी चाहिए। लेकिन पुलिस बेवजह लोगों को परेशान कर रही है।

अब क्या करेंगी CM ममता 

अब देखना यह है कि, संदेशखाली और इसका फरार अपराधी शाहजहां जो कि, राज्य की ‘ममता’ सरकार से संबंध रखता है, उसे पुलिस कब तक पकडती है, वहीं इस मामले पर दूर से ही पैनी नजर रख रही CM ममता कैसे चुनाव के पहले इस घटना क्रम को इतिश्री दे पाएंगी।  फिलहाल तो यह एक अति ज्वनशील मुद्दा बन चूका है।