Permission not granted for AIMIM Chief Asaduddin Owaisi's rally in Mumbai, police said - there is a ban on public gatherings
File Photo

    नई दिल्ली. श्रद्धा वाकर हत्याकांड (Shraddha Walker Murder Case) को लेकर सियासत गरमाई हुई है। राजनीतिक पार्टियां लगातार राजनीतिक रोटियां सेकने में लगी हुई। इस बीच ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने गुरुवार को श्रद्धा हत्याकांड का हवाला देते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर इस मुद्दे को धार्मिक एंगल देने का आरोप लगाया और कहा कि यह घटना लव जिहाद के बारे में नहीं है।

    ओवैसी ने कहा कि, “इस (श्रद्धा हत्याकांड) पर भाजपा की राजनीति पूरी तरह से गलत है। यह लव जिहाद का मुद्दा नहीं है, बल्कि एक महिला के खिलाफ शोषण और दुर्व्यवहार का है और इसे इसी तरह देखा जाना चाहिए और इसकी निंदा की जानी चाहिए।”

    ओवैसी ने आजमगढ़ की घटना को याद करते हुए कहा कि एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी की हत्या कर उसे सूटकेस में रखा था। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं दुखद हैं, इसका राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए और इसे हिंदू-मुस्लिम एंगल नहीं दिया जाना चाहिए।

    एआईएमआईएम प्रमुख ने दिल्ली में चुनाव प्रचार के दौरान इस घटना को धार्मिक एंगल देने के लिए असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा पर भी कटाक्ष किया।

    गौरतलब है कि 20 नवंबर को सीएम सरमा ने कहा था कि, भारत को समान नागरिक संहिता और ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून की जरूरत है। उन्होंने दिल्ली नगर निगम चुनाव से पहले दिल्ली में एक रोड शो के दौरान कहा कहा था कि, “भारत को आफताब (श्रद्धा हत्याकांड के आरोपी) जैसे व्यक्ति की नहीं, बल्कि भगवान राम जैसे व्यक्ति की, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे नेता की जरूरत है।”