आज है साल का अंतिम ‘सूर्य ग्रहण’, जानें भारत में कब, कहां और कैसे देख पाएंगे?

    Solar Eclipse 2021:  साल 2021 यानी इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण (शनिवार) 4 दिसंबर 2021 को है। ये पूर्ण सूर्य ग्रहण अंटार्कटिका में नजर आएगा। ये दक्षिण अफ्रीका और मानीबिया के साथ-साथ दक्षिण अफ्रीका के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। हालांकि, वो भी पूर्ण सूर्य ग्रहण नहीं दिखाई देगा बल्कि आंशिक सूर्य ग्रहण दिखाई देगा।

    गौरतलब हो कि जब सूर्य ग्रहण होता है तो सूरज पूरी तरह से चंद्रमा से ढक जाती है लेकिन आंशिक और कुंडलाकार ग्रहणों में ऐसा नहीं होता। इस तरह के सूर्य ग्रहण में सूर्य का केवल एक ही हिस्सा अस्पष्ट होता है।

    क्या भारत में दिखाई देगा सूर्य ग्रहण?

    ये सूर्य ग्रहण भारत में नहीं देखा जा सकेगा। लेकिन आप इसे दुर्लक्ष ना करें। इस सूर्य ग्रहण का का प्रभाव कुछ राशियों पर होगा लेकिन इसका असर शुभ माना जा रहा है।  

    क्या होगा सूर्य ग्रहण का समय?

    4 दिसंबर के दिन शनिवार को इस वर्ष का अंतिम सूर्य ग्रहण सुबह 10 बजकर 59 मिनट से शुरू होगा। पूर्ण ग्रहण दोपहर 12 बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा और अधिकतम ग्रहण दोपहर 1 बजकर 03 मिनट पर लगेगा। 

    कितने देर का होगा ये सूर्य ग्रहण?

    ये सूर्य ग्रहण इस साल का सबसे लंबा सूर्य ग्रहण माना जा रहा है, जो कि 4 घंटे 8 मिनट तक रहेगा। ज्योतिषों के अनुसार ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार का शुभ कार्य नहीं करना चाहिए।

    कहां-कहां दिखाई देगा ये सूर्य ग्रहण ?

    2021 का अंतिम सूर्य ग्रहण दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत महासागर, अटलांटिक महासागर, हिंद महासागर और अंटार्कटिका में देखा जा सकेगा।  

    कैसे देख सकेंगे सूर्य ग्रहण ?

    ये सूर्य ग्रहण भारत में नजर नहीं आएगा फिर भी आप इसे देख सकते हैं। दरअसल, स्काईवॉचर्स नासा के लाइव प्रसारण से पूरे सूर्य ग्रहण को आप ट्रैक कर सकते हैं जो कि अंटार्कटिका में यूनियन ग्लेशियर से आपको सूर्य ग्रहण का नजारा दिखाएगा। इसके अलावा इस सूर्य ग्रहण को नासा के ही यूट्यूब चैनल पर लाइव स्ट्रीम भी किया जाएगा, जिसे आप घर बैठे आसानी से देख सकेंगे। 

    आपको बता दें कि ग्रहण वाले सूर्य को नंगी आंखों से नहीं देखना चाहिए चाहे वो कुछ ही देर के लिए भी क्यों न हो। हालांकि, सूर्य के अधिकांश हिस्से को चंद्रमा ढंक लेता है लेकिन फिर भी ये आपकी आंखों को निकसान पहुंचा सकता है जिससे आपके आँखों की रौशनी नहीं जा सकती हैं।