KCR
के. चंद्रशेखर राव

Loading

हैदराबाद: तेलंगाना विधानसभा चुनाव की गिनती खत्म हो चुकी है। सुबह 8 बजे से 49 केंद्रों पर मतगणना हुई। तेलंगाना में कुल 119 विधानसभा सीटें हैं। किसी भी पार्टी को जादुई आंकड़ा पार करने के लिए 60 सीटों की जरूरत है।  इसी क्रम में कांग्रेस 64 सीटों पर जीत हासिल की है। जबकि बीआरएस 39, बीजेपी 8 एआईएमआईएम 7 और सीपीआई एक उम्मीदवार विजयी हुए हैं। केवल सीटों पर आयोग का आधिकारिक ऐलान होना बाकी है।

तेलंगाना में अपनी हार को स्वीकार करते हुए मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उन्होंने अपना इस्तीफा ओएसडी के जरिए राज्यपाल के पास भेज दिया है और मुख्यमंत्री आवास से अपने फार्म हाउस में चले गए हैं।

इसके पहले उनके बेटे और पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष के. तारक रामाराव ने कांग्रेस पार्टी की जीत पर बधाई देते हुए अपनी पार्टी की हार स्वीकार कर ली थी और कहा था कि पार्टी 2023 में मिले जनादेश से निराश है हताश नहीं। पार्टी एक बार फिर मेहनत करके सत्ता में वापसी की कोशिश करेगी।

आपको बता दें कि तेलंगाना राज्य के गठन के बाद लगातार दो कार्यकाल पूरी करने वाली भारत राष्ट्र समिति के नेताओं को इस बात की पक्की उम्मीद थी कि एक और जीत के साथ के. चंद्रशेखर राव तीसरी बार मुख्यमंत्री बनेंगे, लेकिन उनके पार्टी के नेताओं और सरकार के अफसरों के रवैए से जनता अच्छी खासी नाराज थी। वहीं कांग्रेस पार्टी के चुनावी अभियान से प्रभावित होकर अबकी बार जनता ने भारत राष्ट्र समिति के उम्मीदवारों और उनकी सरकार को सबक सिखाने का मन बना लिया था। इसीलिए कांग्रेस पार्टी को भारी बहुमत के साथ सत्ता में लाने की पहल की है।

इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने भी अपनी सीटों का आंकड़ा बढ़ाते हुए तेलंगाना में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। भारतीय जनता पार्टी कुल 8 सीटों पर परचम लहराते हुए विधानसभा में तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। उसने AIMIM से भी अधिक सीटें जीतकर राज्य में तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बन गयी है।