The decision of the fate of the candidates in the 2021 panchayat elections of UP, the counting for the results started.
Photo:Twitter/@ANI

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के पंचायत चुनाव (Panchayat Election) के नतीजे (Results) आज आने वाले हैं। सुबह 8 बजे के करीब गिनती शुरू हो चुकी है। उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में 3051 जिला पंचायत सदस्यों को चुनने के लिए चार चरणों में मतदान हुए थे जिनके रिज़ल्ट आज आएंगे और तमाम उम्मीदवारों की जीत पर फैसला होगा।  

    बता दें कि, इससे पहले उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) द्वारा उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव में मतगणना पर रोक लगाने से शनिवार को इनकार करने के बाद मतों की गिनती की जा रही है। राज्‍य निर्वाचन आयोग ने उम्मीदवारों और अभिकर्ताओं को स्‍पष्‍ट हिदायत दी है कि मतगणना केंद्रों में उन्हें ही प्रवेश मिलेगा जिनकी कोविड-19 की रिपोर्ट निगेटिव होगी।

    मतगणना में शामिल होने का निर्णय लिया 

    कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण और अधिकाधिक संख्या में कर्मचारी, शिक्षक, अभियंताओं और अधिकारियों की मौत के बाद विभिन्न शिक्षक और कर्मचारी संगठनों की मांग पर मतगणना बहिष्कार की घोषणा करने वाले संगठनों ने शनिवार की शाम उच्‍च्‍तम न्‍यायालय के आदेश का अनुपालन करते हुए मतगणना करने का निर्णय लिया है। शनिवार शाम जारी एक बयान में विभिन्न संगठनों के एक समूह ने मतगणना ड्यूटी में लगाए गए कार्मिकों, शिक्षकों की सुरक्षा के संबंध में मुख्य सचिव स्तर की वार्ता में दस मांगें रखी जिसका अनुपालन शासन द्वारा कराये जाने का आश्वासन मिलने के बाद कर्मचारी और शिक्षक संगठनों ने मतगणना में शामिल होने का निर्णय लिया है।

    अखिलेश यादव ने शनिवार को मतगणना न करने के शिक्षक संगठनों के फैसले का समर्थन किया

    समाजवादी पार्टी के प्रमुख और उत्‍तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को मतगणना न करने के शिक्षक संगठनों के फैसले का समर्थन किया। उन्होंने शनिवार को ट्वीट कर कहा कि ”सपा अभी भी पूरी तरह से शिक्षक संघ की इस मांग के साथ है कि पंचायत चुनाव की मतगणना टाली जाए। भाजपा सरकार के सत्ता के दंभ और हठ के कारण पंचायत चुनाव ड्यूटी से सैकड़ों शिक्षक एवं उनके परिजन जान गंवा चुके हैं। अब जबकि कोरोना वायरस महामारी चरम पर है तो सरकार मानवीय दृष्टिकोण अपनाएं एवं मतगणना टाले।”

    यह भी पढ़ें

    कुल 12, 89, 830 उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला

    राज्‍य निर्वाचन आयोग द्वारा शनिवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य के सभी 75 जिलों की मतगणना में जिला पंचायत सदस्य, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत प्रधान और ग्राम पंचायत सदस्य के पदों के लिए कुल 12, 89, 830 उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला होगा। आयोग के अनुसार जिला पंचायत सदस्य के सात, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 2,005, ग्राम पंचायत प्रधान के 178 और ग्राम पंचायत सदस्य के 3,17,127 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। इस प्रकार राज्य में चारों चरणों के चुनाव क्षेत्रों से कुल 3,19, 317 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित किये जा चुके हैं। उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में चार चरणों में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के मत डाले गये। पहले चरण में 15 अप्रैल, दूसरे में 19 अप्रैल, तीसरे में 26 अप्रैल और चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान संपन्न हुआ। राज्‍य में चारों चरणों में ग्राम पंचायत प्रधान के 58,194, ग्राम पंचायत सदस्य के 7,31,813, क्षेत्र पंचायत सदस्य के 75,808 तथा जिला पंचायत सदस्य के 3,051 पदों के लिए मत डाले गये हैं। इनमें से कुछ पदों पर निर्विरोध निर्वाचन भी हो चुका है। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने उत्तर प्रदेश सरकार से पंचायत चुनाव प्रक्रिया 25 मई तक समाप्त करने को कहा था।