udaipur
PIC: Twitter

    नई दिल्ली. जहाँ एक तरफ उदयपुर (Udaipur) में हुए कन्हैयालाल के मर्डर (Kanhaiyalal Murder Case) मामले में अब NIA की जांच का दायरा बढ़ता ही जा रहा है। वहीं NIA अब इस जघन्य तालिबानी हत्याकांड से जुड़े दरिंदों की तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है। इसी सिलसिले में एजेंसी ने बीते बुधवार को पहली बार राजस्थान के बाहर किसी दूसरे राज्य में अपनी कार्रवाई की है। 

    ख़बरों के अनुसार NIA ने हैदराबाद में हत्यारे रियाज के एक दोस्त के घर रेड कर उसे अपनी गिरफ्त में लिया है। वहीं एजेंसी से जुड़े सूत्रों का यह भी कहना है कि, पकड़े गए सभी आरोपी और रियाज पाकिस्तान के कट्‌टरपंथी संगठन के लिए काम कर रहे थे।

    वहीं मिली जानकारी के अनुसार NIA की जांच में आरोपी मोहम्मद गौस और रियाज अत्तारी का अब हैदराबाद कनेक्शन भी सामने आया है। पता हो कि इसके पहले NIA की टीम ने बीते 29 जून को वसीम को पकड़ा था। यह जो आरोपी रियाज का रिश्तेदार है। उसके मोबाइल से मिले कुछ फोटो के आधार पर ही  टीम इसको लेकर जांच कर रही है।

    यह भी कहा गया है कि NIA के जयपुर SP ने हैदराबाद निवासी रियाज के दोस्त मोहम्मद मुनव्वर अशरफी को बाकायदा पहले नोटिस दिया है और उसे 14 जुलाई को NIA के सामने पेश होने को कहा है। इसके बाद टीम ने उसके घर की तलाशी लेकर उससे पूछताछ भी की, उसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया।

    एजेंसी ने अपनी जांच में पाया कि हत्याकांड के मुख्य आरोपी रियाज और मुनव्वर के बीच अक्सर फोन पर बातचीत होती रहती थी। वहीं व्हाट्सएप चैट में भी इनकी अनेकों चैट मिली हैं जो इनके कट्टरपंथ सोच को बढ़ावा देती हैं। उधर रियाज और मुनव्वर ने देश के कई शहरों में साथ साथ सफर किया और रहे हैं। वे दोनों पाकिस्तान के दावत-ए- इस्लामी संगठन के लिए सिलेक्टेड ग्रुप में युवाओं को कट्टर बनने के लिए उकसाते रहते थे।