rahul-gandhi
राहुल गांधी

Loading

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश में पुलिस भर्ती परीक्षा को रद्द किये जाने के फैसले के बाद शनिवार को कहा कि यह छात्र शक्ति और युवा एकता की बड़ी जीत है और इससे यह साफ संदेश मिला है कि जो जुड़ेंगे वो जीतेंगे,लेकिन जो बटेंगे, वो कुचल दिए जाएंगे। पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार जल्द से जल्द नई तारीख की घोषणा करे और सुनिश्चित करे कि इस बार पेपर लीक नहीं होगा।

राहुल गांधी ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘छात्र शक्ति और युवा एकता की बड़ी जीत!उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती परीक्षा आखिरकार निरस्त की गई।”  उन्होंने कहा, ‘‘संदेश साफ है – सरकार कितना भी सच को दबाने की कोशिश करे, एकजुट होकर लड़ने से ही अपना हक जीता जा सकता है। जो जुड़ेंगे वो जीतेंगे, जो बटेंगे, वो कुचल दिए जाएंगे।”

प्रियंका गांधी ने ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘युवाओं की ताकत के सामने सरकार को झुकना पड़ा, यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा रद्द हो गई। कल तक सरकार में बैठे लोग पेपर लीक को झुठलाने की कोशिश में बयानबाजी कर रहे थे। जब युवाओं की शक्ति के सामने इनका झूठ नहीं टिका, तो आज परीक्षा रद्द कर दी।” उन्होंने दावा किया कि उत्तर प्रदेश में हर परीक्षा का पेपर लीक होना भाजपा सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार का सबूत तो है ही, उससे ज्यादा गंभीर बात सरकार का बेपरवाह और भटकाऊ रवैया है।

प्रियंका गांधी ने कहा, ‘‘पहले माना ही नहीं कि पेपर लीक हुआ। फिर छात्रों और अध्यापकों को धमकाने-डराने की कोशिश की, भ्रम फैलाने वाली बयानबाजी की। नतीजा ये है कि पेपर लीक करने वाले सरगना आजाद घूम रहे हैं।” उनके मुताबिक, पूरा घटनाक्रम ये दिखाता है कि भाजपा सरकार युवाओं के भविष्य के प्रति नहीं, बल्कि अपनी छवि और परीक्षा माफिया को बचाने के प्रति गंभीर है।   

 उन्होंने कहा कि सरकार जल्द से जल्द नई तारीख की घोषणा करे और सुनिश्चित करे कि इस बार पेपर लीक नहीं होगा। उत्‍तर प्रदेश सरकार ने शनिवार को राज्‍य के विभिन्न जिलों में 17 और 18 फरवरी को हुई पुलिस भर्ती परीक्षा को निरस्त कर दिया है और छह माह के भीतर पुन: परीक्षा कराने के आदेश दिये हैं।  उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शनिवार को यह फैसला किया। मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्‍स’ पर एक पोस्ट में कहा, ”उप्र पुलिस आरक्षी (सिपाही) के पदों पर चयन के लिए आयोजित भर्ती परीक्षा-2023 को निरस्त करने तथा आगामी छह माह के भीतर ही पुन: परीक्षा कराने के आदेश दिए गये हैं।    बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों ने पुलिस भर्ती परीक्षा में कथित तौर पर पेपर लीक होने को लेकर उत्तर प्रदेश में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया था।