PRIYANKA-GANDHI

    नई दिल्ली. जहाँ उत्तरप्रदेश(Uttar Pradesh) में फिलहाल सियासी सरगर्मी विधानसभा चुनावों (Vidhansabha Elections) के चलते अपने उफान पर है। वहीं इन सबके बीच बीते शुक्रवार को कांग्रेस की प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) ने उस समय सनसनी मचा दी जब उन्होंने इशारा किया कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस से मुख्यमंत्री पद के लिए वह खुद खड़ी हो रही हैं।

    CM पद पर उन्होंने कही ये बात

    हालाँकि आज जब समाचार एजेंसी ANI ने उनसे इस विषय पर पूछा तो उन्होंने साफ़ कहा कि, ” मेरी पार्टी कहीं-कहीं पर ये तय करती है कि CM का चेहरा कौन बनेगा और कहीं पर तय नहीं करती है,ये पार्टी का तरीका है। मैं ये नहीं कह रही हूं कि CM का चेहरा मैं ही हूं,वो मैंने चिढ़ कर कह दिया था क्योंकि आप सब बार-बार वो ही सवाल पूछे जा रहे हैं।”

    रही योगी सरकार पर हमलावर 

    इसके साथ ही उन्होंने योगी सरकार पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि,”इस सरकार ने बेरोज़गारों नौजवानों के लिए क्या किया है? चुनाव आता है तो कहते हैं कि 25 लाख नौकरियां देंगे, कभी ये समझाया है कि रोज़गार कहां से आएगा? हमने ये कहा कि हम 20 लाख नौकरियां देंगे, हमने हवा में नहीं कहा। हमने पूरा घोषणापत्र निकाला है।”

    इसके साथ ही अपने तेवर तीखे करते हुए उन्होंने कहा कि,”5 साल से उत्तर प्रदेश में इनकी सरकार है, इनको पिछला महीना ही मिला हवाईअड्डे, हाईवे का उद्घाटन करने और नई इंडस्ट्री लगाने के लिए।।क्या इससे पहले इनके पास समय नहीं था? चुनाव के सिर्फ एक महीने पहले आप सब घोषणाएं कर रहे हैं, घोषणाएं करनी हैं तो ठोस तरह से करें।”

    मायावती पर प्रियंका गांधी वाड्रा का तंज

    इसके साथ ही बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने तंज कसते हुए कहा कि,”मुझे बहुत आश्चर्य हुआ कि चुनाव भी आ गया लेकिन फिर भी वो सक्रिय नहीं हुईं, हो सकता है कि उन पर BJP और योगी सरकार का दबाव हो।”

    उत्तरप्रदेश: कांग्रेस क्या अकेले लड़ रही चुनाव 

    वहीं उत्तरप्रदेश में अन्य पार्टियों के साथ मिलकर चुनाव लड़ने के प्रश्न पर उनका यह कहना था कि, हम किसी भी तरह की चर्चा के लिए तैयार थे लेकिन ऐसी कोई चर्चा नहीं हुई और हम अकेले चुनाव लड़ रहे हैं। एक तरह से ये हमारी पार्टी के लिए अच्छा है। हमने काफी समय से UP में बहुत ज़्यादा सीटों से चुनाव नहीं लड़ा है।”

    उत्तरप्रदेश में कांग्रेस के अकेले चुनाव लड़ने के पक्ष में उनका कहना था कि, “अकेले चुनाव पर हम किसी भी तरह की चर्चा के लिए तैयार थे लेकिन ऐसी कोई चर्चा नहीं हुई और हम अकेले चुनाव लड़ रहे हैं। एक तरह से ये हमारी पार्टी के लिए अच्छा है। हमने काफी समय से UP में बहुत ज़्यादा सीटों से चुनाव नहीं लड़ा है।जब एक पार्टी 400 सीटों में से सिर्फ 100 या 200 सीटों पर चुनाव लड़ती है तो ये बात साफ है कि पार्टी जिन सीटों पर चुनाव नहीं लड़ती है उन सीटों पर वो कमजोर होती जाती है। हमारी पार्टी के लिए अकेले चुनाव लड़ना और अपनी पार्टी को सशक्त बनाना बहुत जरूरी था।”

    वहीं उत्तरप्रदेश में राजनीतिक गटबंधन पर उनका साफ़ कहना था कि,”ये दरवाजा बीजेपी के लिए एक दम बंद है और बाकी पार्टियों के लिए खुला है। समाजवादी पार्टी और भाजपा एक हद तक एक ही बिसात पर खेल रहे हैं क्योंकि दोनों का फायदा उसी तरह की राजनीति से हो रहा है।”

    क्या प्रियंका खुद हैं CM उम्मीदवार 

    गौरतलब है कि कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश में पार्टी के चुनाव की कमान संभाल रहीं प्रियंका गांधी ने एक बार फिर से CM पद को लेकर बयान दिया है। प्रियंका ने इस पर भी साफ़ कहा कि, “मैं यूपी चुनाव में लड़ सकती हूं लेकिन यह नहीं मान सकती कि मैं मुख्‍यमंत्री उम्‍मीदवार हूं।” हालांकि की उनकी इन बातों से ये कतई स्पष्ट नहीं हो सका की वे कांग्रेस की सीएम उम्मीदवार हैं भी या नहीं।