What is PM MITRA its implementation will lead to huge investment and employment opportunities
PM MITRA

Loading

नई दिल्ली: ‘पीएम मित्र’ यानी पीएम मेगा इंटिग्रेटेड टेक्सटाइल रीजन एंड अपैरल (PM MITRA) सात पार्क विकसित करने की महत्वाकांक्षी योजना है। उद्योग विशेषज्ञों का मानना है कि सात पीएम मित्र पार्क विकसित करने की महत्वाकांक्षी  योजना के तेजी से क्रियान्वयन से इस क्षेत्र में बड़ा प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) आकर्षित करने में मदद मिलेगी। साथ ही बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा होंगे। 

देश में आयोजित होने वाले अबतक के सबसे बड़े वैश्विक कपड़ा कार्यक्रमों में से एक भारत टेक्स-2024 (Bharat TEX-2024) का उद्घाटन करने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कई राज्यों में सात पीएम मित्र पार्क बनाने की सरकार की व्यापक योजनाओं पर प्रकाश डाला और संपूर्ण कपड़ा क्षेत्र के लिए अवसरों के सृजन पर जोर दिया। 

ये पार्क तमिलनाडु, तेलंगाना, गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में बनाए जा रहे हैं। इन पार्कों के माध्यम से लगभग 70,000 करोड़ रुपये के निवेश और 20 लाख रोजगार सृजन की परिकल्पना की गई है। भारतीय कपड़ा बाजार का मूल्यांकन 12 लाख करोड़ रुपये आंका गया है। केंद्रीय कपड़ा मंत्रालय इन परियोजनाओं के क्रियान्वयन की निगरानी कर रहा है। 

प्रत्येक पार्क के लिए केंद्र और राज्य सरकारों के स्वामित्व वाली एक विशेष इकाई (SPV) की स्थापना की जा रही है, जो परियोजना के क्रियान्वयन की निगरानी करेगी।परिधान निर्यात संवर्धन परिषद (AEPC) के महासचिव मिथिलेश्वर ठाकुर ने कहा कि पीएम मित्र पार्क से उन पारंपरिक और उभरती चुनौतियों का समाधान होगा जिनका कपड़ा उद्योग लंबे समय से सामना कर रहा है।

ठाकुर ने कहा कि पीएम मित्र पार्क सभी सुविधाओं, भरोसेमंद बिजली आपूर्ति, पानी की उपलब्धता, अपशिष्ट जल निपटान प्रणाली के लिए अनुकूल पारिस्थितिकी तंत्र सुनिश्चित करेंगे। इनमें भूमि, भवन, बिजली, सीईटीपी और अन्य सामान्य सुविधाओं के लिए प्रभावी एकल खिड़की प्रणाली के जरिये नियामकीय मंजूरियों की सुविधा होगी। 

महासचिव ठाकुर ने कहा, इन पार्कों के तहत कताई, बुनाई, प्रसंस्करण, रंगाई, छपाई और परिधान से लेकर संपूर्ण कपड़ा मूल्य श्रृंखला के एकीकरण से लॉजिस्टिक्स लागत में काफी कमी आएगी। इसके अलावा ये पार्क न केवल एफडीआई आकर्षित करेंगे बल्कि इनसे बड़ी संख्या में लोगों के लिए रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। कपड़ा मंत्रालय एसपीवी को प्रति पार्क विकास के लिए 500 करोड़ रुपये का पूंजीगत समर्थन उपलब्ध कराएगा।

भारतीय कपड़ा उद्योग महासंघ (CITI) के चेयरमैन राकेश मेहरा का मानना है कि पीएम मित्र योजना क्षमता निर्माण और नया निवेश आकर्षित करने की एक प्रमुख पहल है। रेटिंग एजेंसी इक्रा की एक हालिया रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (PLI) योजना और पीएम मित्र पार्क के तहत कपड़ा मूल्य श्रृंखला में निवेश और ‘चीन प्लस वन’ रणनीति आगे चलकर वृद्धि का प्रमुख ‘इंजन’ साबित होंगे। (एजेंसी)