File Photo
File Photo

    नई दिल्ली: देश में कोरोना (Coronavirus Pandemic) का प्रकोप अभी थमा नहीं है। लगातार कोविड (COVID-19) के मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना काल के शुरू से लेकर अब तक आर्थिक मोर्चे पर बहुत नुकसान हर सेक्टर को झेलना पड़ा है। हालांकि अब धीरे-धीरे हालात सुधर रहे हैं। इसी बीच आम आदमी से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आई है। दरअसल थोक महंगाई दर (WPI) अगस्त महीने में फिर बढ़ी है। साथ ही यह 11.39 फीसदी रही है। 

    ज्ञात हो कि अगस्त में थोक महंगाई के मोर्चे पर सरकार को झटका लगा है। इस महीने थोक महंगाई दर 11.39 प्रतिशत पर रही। हालांकि इसके 10.8 फीसदी पर रहने का अनुमान जताया गया था। इससे पहले जुलाई महीने की बात करें तो यह 11.16 प्रतिशत थी। 

    अगस्त महीने में थोक महंगाई दर बढ़कर 11.39 फीसदी पर रही-

    दूसरी तरफ तिमाही दर तिमाही पर अगस्त महीने में फ्यूल & पावर की थोक महंगाई 0.7 फीसदी बढ़ी है। पहले यह 26.02 थी लेकिन बढ़कर 26.09 प्रतिशत पर पहुंची है। हालांकि इस दौरान खाने-पीने की चीजों की महंगाई घट गयी है। अगस्त महीने में खाने-पीने की चीजों की थोक महंगाई जुलाई महीने की तुलना में घटकर 3.43 फीसदी पर पहुंच गई है।