जियो लॉन्च करेगी रु 5000 से कम दाम वाले 5जी स्मार्टफोन्स

देश की प्रसिद्ध टेलिकॉम कंपनी रिलायंस जियो लोगों के लिए एक नई खुशखबरी लेकर आ रही है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की टेलीकॉम सब्सिडियरी रिलायंस जियो 5 हज़ार रुपए से कम कीमत वाले 5जी स्मार्टफोन लॉन्च करने के विचार में है। कंपनी के मुताबिक, इन स्मार्टफोन्स की मांग अगर मार्किट में बढ़ेगी तो धीरे-धीरे इसकी कीमत घटाकर 2500 से 3000 रुपए प्रति यूनिट कर दी जाएगी। इन बातों की जानकारी खुद कंपनी के एक अधिकारी ने दी है। 

कंपनी की नज़र 2जी इस्तेमाल करने वालों पर-
रिलायंस जियो के अधिकारी के अनुसार, इस समय कंपनी की नज़र उन लोगों पर है जो आज के दौर में भी 2जी इस्तमाल कर रहे हैं। इन यूज़र्स की संख्या 20 से 30 करोड़ है। वहीं कंपनी शुरुआत में 5 हज़ार रुपए से कम कीमत में 5जी स्मार्टफोन लाने की योजना बना रही है।जब बिक्री बढ़ जाने पर इसकी कीमत काम कर दी जाएगी। हालांकि, अभी तक इसे लेकर रिलायंस जियो ने कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं दी है। मौजूदा समय में भारत में 5जी स्मार्टफोन की प्राइस रेंज 27 हजार रुपए से शुरू होती है।

देश का सबसे पहला 4जी मोबाइल फोन जियो ने किया था पेश-
ज्ञात हो कि, रिलायंस जियो ने ही देश का पहला 4जी मोबाइल फोन लॉन्च किया था। इस फोन का नाम जियो फोन था। 1500 रुपए रिफंडेबल डिपॉजिट करने पर जियो ग्राहक को यह फोन मुफ्त में दिया गया था। 43वीं एजीएम में आरआईएल के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी भारत को 2जी मुक्त करने का आह्वान किया था।

वहीं एक बार फिर मुकेश अंबानी की नज़र उन लोगों पर है जो आज भी 2जी फीचर फोन इस्तेमाल कर रहे हैं। मुकेश अंबानी उन 35 करोड़ यूज़र्स के 2जी फोन्स को किफायती स्मार्टफोन में बदलने की आवश्यकता पर ज़ोर दे रहे हैं। 

रिलायंस जियो गूगल के साथ मिलकर सस्ते एंड्रॉयड फोन बनाएगी-
मुकेश अंबानी ने 33,737 करोड़ रुपए में जियो प्लेटफॉर्म्स की 7.7 फीसदी हिस्सेदारी गूगल को बेचने का एलान कर चुकी है। इस साझेदारी से कंपनी गूगल के साथ मिलकर सस्ते एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स बनाएंगी। साथ ही कंपनी 5जी नेटवर्क के उपकरण भी बना रही है। इन उपकरणों की टेस्टिंग के लिए कंपनी ने डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम से स्पैक्ट्रम देने की मांग की है।

देश में 5जी सेवाएं नहीं-
मुकेश अंबानी ने यह बात ऐसे समय में कही है जब भारत 5जी में प्रवेश करने के लिए तैयार है। लेकिन हमारे देश में अभी तक 5जी की सेवाएं उपलब्ध नहीं करवाई गई हैं। साथ ही सरकार ने अभी तक किसी भी टेलीकॉम ऑपरेटर को फील्ड ट्रायल के लिए 5जी स्पैक्ट्रम अलॉट नहीं किया है। हालांकि, चालू वित्त वर्ष में ट्रायल शुरू होने की संभावना जताई जा रही है।