10,000 beds ready for corona treatment
Representational Pic

    जलगांव. जलगांव ज़िले (Jalgaon District) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) कहर बनकर उभरा है। गत 5 दिनों में वायरस (Virus) ने विकराल रूप धारण कर लिया है। जलगांव महानगर समेत ज़िले के विभिन्न स्थानों से प्रति दिन साढे़ सौ से अधिक संक्रमित मरीज पाए गए हैं।  उसी के चलते जिला स्वास्थ्य व्यवस्था अलर्ट (Alert) हो गया है। जिले में कोरोना संक्रमण की घटना दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। 

    कोविड केअर सेंटर और ज़िला अस्पताल में मरीजों का जमावड़ा लगा हुआ है। ज़िला प्रशासन ने संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुए अधिक बेड की व्यवस्था करने में जुटा है।  जिला स्वास्थ्य विभाग ने सरकारी और निजी अस्पतालों में संभावित खतरे को देखते हुए 10 हजार बेड उपलब्ध कराए हैं।  वहां पर्याप्त स्टाफ और दवाएं  भी उपलब्ध कराई गई हैं।

    सबसे अधिक शहर पर कोरोना का हमला

    कोरोना की दूसरी लहर ने सबसे ज्यादा जलगांव शहर को प्रभावित किया है। महानगर में प्रति दिन तीन सौ से अधिक संक्रमित मरीज मिलने से जिला प्रशासन की सांसें फूल गई हैं। इसे रोकने के लिए जिला प्रशासन ने जलगांव महानगर पालिका क्षेत्र में 3 दिनों का जनता लॉकडाउन की घोषणा की थी। इसके बावजूद नागरिक काफी हद तक सड़कों पर हैं।  जिसके चलते  सक्रमण की श्रृंखला टूटने का नाम नहीं ले रहा है। सड़कों पर नागरिक बेख़ौफ़ दिखाई दे रहे हैं। आधा शहर कोरोना की चपेट में आ चुका है और हर दिन यह सिलसिला लगातार जारी है।

    सुबह 7 से शाम 7 बजे तक खुली रहेंगी दुकानें

    सोमवार सुबह से जनता कर्फ़्यू से  लोगों को राहत मिल गई। सुबह सात से शाम सात बजे तक अब नए नियमों के अनुसार दुकानें शुरू रखने के आदेश ज़िला अधिकारी अभिजीत राऊत ने दिए हैं। तीन दिनों से घर में दुबकी जनता सोमवार से फिर से पूरी क्षमता के साथ बाजारों और दुकानों में खरीदी करने लगी है। इससे संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के अंदेशे से ज़िला प्रशासन ने  जिले के निजी और सरकारी अस्पतालों में दस हजार बिस्तर उपलब्ध कराए हैं। 

    2000 बेडों में आक्सीजन की सुविधा

    इसमें दो हजार बेड्स ऑक्सिजन युक्त सुविधा से लैस हैं और सभी वेंटिलेटर की सुविधा मुहैया कराई गई है। पिछले सप्ताह से संक्रमित मरीज की संख्या में इजाफा हुआ है।