कोरोना की दूसरी लहर की आशंका

  • जिला प्रशासन रहे तैयार, बिना मास्क वालों पर हो कार्रवाई

धुलिया. यूरोप में कई देशों को कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कारण लॉकडाउन की घोषणा करनी पड़ी, इसलिए जिला प्रशासन को सतर्क रहकर दूसरी लहर की रोकथाम के लिए सावधानी पूर्वक योजना बनानी चाहिए. बिना मास्क के चलने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश नाशिक डिवीजन के राजस्व आयुक्त राधाकृष्ण गमे ने दिए हैं. आयुक्त गमे जिले के दौरे पर थे, उनकी अध्यक्षता में जिला कलेक्टर कार्यालय के सतपुड़ा हॉल में कोरोना रोग की रोकथाम को लेकर एक समीक्षा बैठक आयोजित की गई.

कोरोना संबंधी उठाए गए कदम सराहनीय

आयुक्त गमे ने कहा कि जिले में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए किए गए उपाय सराहनीय हैं. कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या में कमी आई है.  मृत्यु दर भी नियंत्रण में है. किसी तरह की कोताही न बरतें, सतर्क रहने की आवश्यकता है.

बेडों की संख्या बढ़ाने बनाएं योजना

जिला प्रशासन के साथ स्वास्थ्य विभाग को सतर्क रहना चाहिए.  दूसरी लहर की आशंका को देखते हुए अधिक बेड की योजना बनाई जाए.  कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए परीक्षणों की संख्या में वृद्धि करते हुए उन्हें जारी रखा जाए. कोरोना वायरस के संपर्क में आए व्यक्तियों की अधिक से अधिक जांच की जाए. रैपिड एंटीजन परीक्षणों की संख्या बढ़ाई जाए.  सरकारी मेडिकल कॉलेज की प्रयोगशाला को पूरी क्षमता से इस्तेमाल किये जाने के निर्देश आयुक्त गमें ने ज़िला प्रशासन को दिए हैं.

आचार संहिता लागू करने का निर्देश

‘मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी ’अभियान के दौरान मिले सह-रुग्ण और उच्च जोखिम वाले रोगियों के संपर्क में रहें.  यदि आवश्यक हो तो उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया जाए. आयुक्त राधाकृष्ण गमे ने कोरोना संक्रमण को काबू में करने के उद्देश्य से ज़िले में आचार संहिता लागू करने के निर्देश दिए हैं, जिसमें उन्होंने कहा कि पोस्ट कोविड ओपीडी को सक्रिय रूप से शुरू किया जाए. बिना मास्क के चलने वाले नागरिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर उनसे जुर्माना वसूला जाए.

बिना मास्क वाले ग्राहकों को न करने दें प्रवेश

 विक्रेता भी मास्क का उपयोग करें और बिना मास्क वाले ग्राहकों को प्रवेश करने की अनुमति नहीं देनी चाहिए.  उन्होंने विक्रेताओं को ऐसे निर्देश देने के लिए स्थानीय निकायों को भी निर्देशित किया. इस दौरान जिलाधिकारी संजय यादव, जिला परिषद मुख्य कार्यकारी अधिकारी वान्मथी सी., महानगर पालिका आयुक्त अजीज शेख, उप वन संरक्षक माणिक भोसले, उपायुक्त अर्जुन चिखले (रोहयो), अपर जिलाधिकारी दिलीप जगदाले, प्रशिक्षणार्थी जिलाधिकारी तृप्ति धोडमिसे, श्री भाऊसाहेब हिरे शासकीय वैद्यकीय महाविद्यालय व सर्वोपचार रुग्णालय के  अधिष्ठाता डॉ. पल्लवी सापले,  शल्य चिकित्सक डॉ. माणिक सांगले, निवासी उप जिलाधिकारी प्रमोद भामरे आदि अधिकारी उपस्थित थे.

जिले में कोरोना वायरस के रोगियों की संख्या दिन प्रति दिन घट रही है. इसी तरह से पॉजिटिव मरीजों में भी कमी आई है और रिकवरी दर में वृद्धि हुई है. मृत्यु दर में भी गिरावट आई है.  सरकारी मेडिकल कॉलेज की गहन चिकित्सा इकाई में 100 बेड बनाए गए हैं.  इसका फायदा मरीजों को मिलने वाला है.  जिला अस्पताल जल्द ही गैर-कोविड रोगियों के लिए सुविधाएं प्रदान करेगा. मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन टैंक कार्यान्वित किया है. इसी तरह जिला अस्पताल की स्कैनिंग प्रणाली को सक्रिय कर दिया गया है.

-संजय यादव, जिलाधिकारी

कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए रैपिड एंटीजन के लिए वेंडर्स, पथ विक्रेता का परीक्षण किया जाएगा. निगम की सेवा में आशा स्वयंसेवकों, सफाई कर्मचारियों का परीक्षण किया गया है. अब फेरीवालों, वेंडरों का परीक्षण किया जाएगा.

-अजीज शेख, मनपा आयुक्त