आश्रम शाला कर्मियों पर भुखमरी की नौबत, 4 महीने से नहीं मिला वेतन

  • वेतन जल्द दिए जाने की प्रशासन से गुहार

जलगांव. यावल जनजातीय विकास परियोजना कार्यालय के तहत जिले भर के 32 अनुदानित आश्रम स्कूलों के शिक्षक और गैर-शिक्षण कर्मचारियों को चार माह से वेतन नहीं मिला है. जिसके चलते जनजातीय विकास परियोजना आश्रम स्कूलों के शिक्षक और गैर-शिक्षण कर्मचारी भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं. शिक्षकों और कर्मियों ने वेतन भुगतान किये जाने की गुहार प्रशासन से लगाई है.

जिले में चल रहीं 32 अनुदानित आश्रम शालाएं

पिछले चार महीनों से यावल जनजातीय विकास परियोजना के तहत जलगांव जिले में 32 अनुदानित आश्रम स्कूलों के शिक्षकों और गैर-शिक्षण कर्मचारियों को वेतन का भुगतान नहीं करने के कारण कई वित्तीय कठिनाइयां उत्पन्न हुई हैं. वेतन का भुगतान न होने के कारण, बैंक से लिए गए ऋणों की किस्त पर क़िस्त चढ़ रही है. कर्मियों को किराना, दूध और सब्जी विक्रेताओं से उधार लेने की सीमा पार हो गई है. जिसके चलते अब कर्मचारियों को उधार देने से भी विक्रेता हिचक रहे हैं.

आर्थिक तंगी से गुजर रहे कर्मचारी

कोरोना वायरस संकट से सभी व्यवसाय पूरी तरह से ठप हो गए. ऐसे में शिक्षक और कर्मचारियों का वेतन भुगतान नहीं किए जाने से वे आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं. शिक्षकों में तत्काल वेतन भुगतान किये जाने की मांग जोर पकड़ रही है.