गड्ढों को भरने डामरीकरण काम होगा शुरू : महापौर

जलगांव. शहर में सड़कों पर बने गड्ढों को भरने का काम महानगर निगम के फंड से किया जाएगा. प्रशासन ने इसके लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है. साथ ही, एलईडी और अमृत कार्य के लिए  खुदाई की गयी नालियों को पाटने का काम भी जल्दी शुरू किया जाएगा. इस तरह की जानकारी महापौर भारती सोनवणे ने मनपा में आयोजित बैठक में दी. 

इस दौरान विधायक राजूमामा भोले, स्थायी समिति सभापति राजेंद्र घुगे, मनपा आयुक्त सतीश कुलकर्णी की मौजूदगी में अधिकारियों की समीक्षा बैठक आयोजित की गई थी. इस मौके पर भाजपा महानगराध्यक्ष दीपक सूर्यवंशी, उपमहापौर डॉ.अश्विन सोनवणे, नगरसेवक कैलास सोनवणे, सदाशिव ढेकले, भगत बालाणी, विशाल त्रिपाठी, सुनील महाजन, एड. मजुमदार, उपायुक्त संतोष वाहुले, अभियंता अरविंद भोसले, प्रकाश पाटिल, योगेश बोरोले आदि उपस्थित थे.

इस्टीमेट बनाने का निर्देश

विधायक सुरेश भोले ने समीक्षा बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि शहर की सभी सड़कों का नवनिर्माण और मरम्मत कार्य करने के लिए इस्टीमेट बनाकर तैयार रखें. जिन इलाकों में नालों का पानी घर में घुसता है, वहां दीवार और ऊंची करने प्रस्ताव बनाएं. छोटी गलियों में 6 मीटर कंक्रीट सड़कें बनाएं. इस तरह के निर्देश उन्होंने मनपा अधिकारियों को दिए. विधायक सुरेश भोले ने कहा कि राजमार्ग को जोड़ने वाली सड़कों के लिए केंद्र से धन उपलब्ध कराने के लिए प्रयास किया जाएगा.

ठेकेदार ने समय पर नहीं किया कार्य

नगर निगम प्रशासन ने जलगांव शहर में स्ट्रीट लाइटों पर एलईडी लाइटें लगाने की योजना बनाई थी, लेकिन ठेकेदार की लापरवाही के कारण लाइट लगने काम समय पर पूरा नहीं हो सका है. इसके चलते पदाधिकारियों ने ठेकेदार के प्रति नाराजगी का इजहार किया है. इस पर मनपा कमिश्नर कुलकर्णी ने कहा कि  शहर में बिजली के हर खंभे को ध्यान में रखते हुए एलईडी लाइट्स लगाने की योजना अभियंता द्वारा बनानी चाहिए. साथ ही नगर आयुक्त ने ठेकेदार को नोटिस देने का निर्देश दिया. उन्होंने यह भी कहा कि काम 3 महीने में पूरा होना चाहिए.

नालियों को जल्द भरें ठेकेदार

महापौर भारती सोनवणे ने कहा है कि बारिश का मौसम खत्म हो गया है अब योजना के लिए खुद ही की नालियों को तत्काल मिट्टी से भरा जाए. इस तरह के निर्देश उन्होंने ठेकेदार को दिए हैं.महापौर ने कहा कि शहर की नई कॉलोनी क्षेत्रों को अमृत योजना में शामिल नहीं किया गया है. ऐसे इलाकों में अमृत का कार्य करने के लिए प्रस्ताव तैयार कर भेजा जाए. विशाल त्रिपाठी ने सुझाव दिया कि अमृत योजना के काम का परीक्षण करने की योजना का प्रस्ताव मनपा प्रशासन ने रखा है.

काम में ढिलाई बरतने वाले ठेकेदारों पर होगी कार्रवाई 

नगर निगम प्रशासन ने शहर में गड्ढों को भरने के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी है. इस कार्य के लिए प्रत्येक वार्ड के लिए 50 लाख रुपये का कोष उपलब्ध कराया जाएगा. कुछ वार्डों में ठेकेदार काम करने को तैयार नहीं थे. मनपा आयुक्त और महापौर के कहने पर उन वादों में ठेकेदारों ने काम करने की रजामंदी दिखाई है. शहर के सभी वार्डों में सड़क मरम्मत के कार्य में ढिलाई रखने वाले ठेकेदारों को बख्शा नहीं जाएगा. इस तरह की चेतावनी भी महापौर ने दी है.