फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा बोरखेड़ा हत्याकांड का मुकदमा

  • सरकार ने बोरखेड़ा हत्याकांड को गंभीरता से लिया
  • उज्जल निकम करेंगे पैरवी: गृहमंत्री

जलगांव. प्रदेश के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने रावेर तहसील स्थित बोरखेड़ा में एक दिन पहले चार मासूम बच्चों की हुई हत्या के मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की घोषणा की.  इसी के साथ उन्होंने कहा कि पीड़ितों की तरफ से महाराष्ट्र राज्य सरकार के विशेष सरकारी वकील उज्जवल निकम अदालत में पैरवी करेंगे. देशमुख पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे. इस दरमियान चारों बच्चों का गांव में एक साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया. इस समय पूरा माहौल शोककुल था.  

पुलिस ने 3 आरोपियों को किया गिरफ्तार

बोरखेड़ा गांव स्थित एक खेत में मजदूरी कर गुजर-बसर करनेवाले मजदूर परिवार के चार बच्चों की कुल्हाड़ी से हत्या करने की घटना शुक्रवार को सवेरे सामने आयी थी. घटना के चलते संपूर्ण महाराष्ट्र में खलबली मच गयी थी. पुलिस ने डॉग स्कॉड, फिंगर प्रिंट की सहायता और जांच पड़ताल से तीन आरोपियों को दोपहर तक पकड़ लिया था. तीनों आरोपी गांव के ही रहनेवाले हैं.

घर में घुस कर मजदूर की बेटी से किया दुष्कर्म

बच्चों के माता-पिता को घर में नहीं देख यह आरोपी मजदूर के घर में रात में घुसे थे और मजदूर की बेटी के साथ दुष्कर्म किया. बहन की आवाज सुनकर जागे भाइयों को देख गुस्से में आए तीनों ने कुल्हाड़ी से दोनों भाइयों और बहन समेत चारों की हत्या कर दी थी. पुलिस जांच पड़ताल से यह बात शनिवार को सामने आयी. इस दरमियान घटना की गंभीरता को देखते हुए गृहमंत्री अनिल देशमुख बोरखेड़ा पहुंचे और पीड़ितों को सांत्वना दी.        

पालकमंत्री ने की दो लाख मदद की घोषणा

देशमुख ने बताया कि आरोपी के रूप में 5 लोगों को हिरासत में लिया गया है. इनमें से 3 ने अपना गुनाह कबूला है. इन तीनों में एक नाबालिग बताया जा रहा है. इस दरमियान जिले के पालकमंत्री गुलाबराव पाटिल ने पीड़ित परिवार को तत्काल 2 लाख रुपये आर्थिक सहायता की घोषणा की.

एक ही जाति के आरोपी और पीड़ित

घटना की जांच कर रही पुलिस से पता चला कि घटना में पकडे़ गए आरोपी और पीड़ित एक ही जाति के हैं. बच्ची के माता-पिता के बाहर गांव जाने की जानकारी होने पर रात के समय दुष्कर्म करने का प्लान आरोपियों ने बनाया था. ये आरोपी गांव के समीप के एक होटल में काम करते थे. रात के समय आरोपी झोपड़े में घुसे. तीनों के शराब पीने की भी जानकारी मिल रही है. घटना के चलते लगभग सभी वरिष्ठ अधिकारी घटना स्थल पर ही डेरा लगाए हुए हैं.

भूमि और आर्थिक मदद करने का निर्देश

गृह मंत्री अनिल देशमुख ने बोरखेड़ा में हुए हत्याकांड में मृतक आश्रित परिवार से मुलाकात कर जिला कलेक्टर को मृतक के वारिसों को भूमि और वित्तीय सहायता प्रदान करने का निर्देश दिए हैं. गृह मंत्री अनिल देशमुख ने आज दोपहर बोरखेड़ा में पीड़ित परिवार से मुलाकात की और उन्हें सांत्वना दी. इस अवसर पर उन्होंने पीड़ित परिवार को हर संभव सहायता प्रदान करने का वादा किया. उन्होंने जिलाधिकारी राउत को निर्देश दिए कि मृतक आश्रित परिवार को आवास, वित्तीय सहायता और भूमि उपलब्ध कराने का निर्देश दें. इस मौके पर विधायक शिरीष चौधरी, अनिल भाईदास पाटिल, राष्ट्रवादी जिलाध्यक्ष रवींद्र भैय्या पाटिल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे.