Case registered

  • सीआईडी ने किया 3 को गिरफ्तार

धुलिया. दोंडाईचा के मोहन मराठे मौत प्रकरण में दोंडाईचा पुलिस स्टेशन के तत्कालीन सहायक पुलिस निरीक्षक पंजाबराव राठौड़ समेत चार पुलिस कर्मियों के खिलाफ गुनाह दाखिल किया गया है। इस मामले में राठौड़ फरार बताया जा रहा है तो 3 पुलिस कर्मियों को सीआईडी (CID) ने गिरफ्तार कर लिया है। दोंडाईचा की मुकेश ऑयल मिल व कैलास ट्रेडर्स के गोदाम से चावल की 96 बोरियां चोरी हुई थीं। इस मामले में पुलिस ने दोंडाईचा के मोहन मराठे के साथ 3 आरोपियों को पकड़ा था। पुलिस कस्टडी के दौरान मोहन मराठे की संदिग्ध रूप से मौत हो गयी थी। हिरासत के दौरान संदिग्ध रूप से मौत होने से पुलिस अधीक्षक चिन्मय पंडित ने इस संबंध में अपनी रिपोर्ट सीआईडी को सौंप दी थी।

सीआईडी ने की जांच

सीआईडी के पुलिस अधिकारी रवि किरण दरवडे ने गंभीरता से जांच कर सहायक पुलिस निरीक्षक पंजाब राव राठौड, पुलिस कर्मचारी वासुदेव जगदाले,सीताराम निकम,राहुल सोनवणे इन चारों के खिलाफ गुनाह दर्ज किया। गुनाह दाखिल होते ही सीआईडी ने तीनों पुलिस कर्मचारियों को अपनी हिरासत में ले लिया।राठौड़ अभी फरार बताया जा रहा है।

पुलिस हिरासत के दिन सड़क पर मिला शव

मोहन मराठे पुलिस हिरासत में था।इसके बावजूद उसकी लाश उसी दिन सड़क पर मिली। इस पर लोगों ने पुलिस पर शक जताया था।इसी बात को लेकर सीआईडी ने जांच की। आरोपी के साथ हुई मारपीट में उसकी मौत होने के बाद उसकी लाश सड़क पर मिलने की खबर फैलाकर अधिकारी समेत पुलिस कर्मचारियों द्वारा सबूत ही मिटाने की कोशिश करने का आरोप लगाया गया और गुनाह दर्ज कर गिरफ्तारी शुरू कर दी।फरार पंजाबराव राठौड़ को ढूंढने में सीआईडी और पुलिस लगी है।