बाइक चोरी का सिलसिला जारी, नए पुलिस अधीक्षक के सामने कड़ी चुनौती

  • चोरों का गिरोह सक्रिय, पुलिस निष्क्रिय

जलगांव. शहर सहित जिले में मोटरसाइकिल चोरी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. फिर एक बार बालिरामपेठ से आवास के सामने पार्किंग स्थल से अज्ञात बदमाशों ने  बाइक चोरी की वारदात को अंजाम दिया है. बाइक मालिक की शिकायत पर सिटी थाना में चोरी की एफआईआर दर्ज कराई गई है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के बलिराम पेठ इलाके के रहने वाले रविन्द्र वाणी ने काम से लौटने के बाद अपने घर के बाहर  दोपहिया वाहन (एमएच 19 डीसी 5718) पार्क किया था.सुबह काम के लिए पिता उठे तो पता चला कि बाइक चोरी हो गई. तलाश करने पर बाइक का अता-पता नहीं चला. इस पर वाणी ने शहर के पुलिस स्टेशन में अज्ञात चोर के खिलाफ मामला दर्ज कराया है.

पुलिस की सक्रियता पर सवाल

दो दिन में ज़िले से 1 बाइक चोरी हो रही है. ऐसा भी नहीं है कि गिरोह बाइक सिर्फ बैंक और भीड़-भाड़ भरे इलाके से पार कर रहे हों, बल्कि बस स्टैंड और आवासों के सामने खड़ी बाइकों पर हाथ साफ कर रहे हैं. पुलिस शहर में हो रही बाइक चोरी पर अंकुश लगाने में पूरी तरह नाकाम साबित हो रही है.

हर 2 दिन में बाइक चोरी

शहर में चोर गिरोह की सक्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि प्रत्येक 5 दिन में 4 बाइक चोरी हुई हैं. अहम बात यह है कि बाइक चोरी होने के बाद थाने में रिपोर्ट लिखाने के लिए उसे काफी चक्कर लगाने पड़ते हैं. थानों में एफआईआर हो भी जाए तो चोरों का पता नहीं लग पाता है. ऐसे में बाइक मालिक थानों के चक्कर लगाते रहते हैं.

अखिर पुलिस कहां गश्त करती

शहर में बाइक चोर और असामाजिक तत्वों पर नजर रखने के लिए प्रतिदिन मोबाइल पेट्रोलिंग बिट मार्शल बराबर गश्त करती है. बावजूद इसके गिरोह के सदस्य बाइक चोरी करने में सफल हो जाते हैं. आखिर पुलिस कहां गश्त करती है. जिनकी आंख में चोर धूल झोंक कर चोरी की घटनाओं को अंजाम देते हैं.

सीसीटीवी कैमरे नहीं कर रहे मदद

शहर की प्रत्येक गतिविधि पर नजर रखने के लिए शहर के हर  तिराहे और चौराहों पर कैमरे लगाए हैं, सीसीटीवी कैमरे चालू हैं पुलिस उनकी मदद से भी चोर गिरोह तक नहीं पहुंचे पा रही है. नवनियुक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण मुंडे के सामने छोटी मोटी चोरियां और बाइक चोरों ने खुली चुनौती दी है. मुंडे को आम आदमी को न्याय देने के लिए पुलिस को सक्रिय कर इन चोरियों पर नकेल कसने की आवश्यकता है.

जलगांव शहर में कोई ईमानदार पुलिसिंग नहीं है.  हर दिन बाइक चोरी होने पर भी चोर पकडे़ नहीं जा रहे. 2012 में मेरी बाइक चोरी हो गई थी,  तत्कालीन एलसीबी इंस्पेक्टर डी डी  गावरे ने बाइक को सिर्फ 48 घंटे में ढूंढ निकाला था. जिले के सभी वरिष्ठ अधिकारी आज भी सक्षम हैं. जल्द से जल्द चोरों को पकड़ने की बस इच्छा शक्ति बढ़ाने की आवश्यकता है.

 -चेतन वाणी, स्थानीय निवासी