क्राइम ब्रांच पुलिस ने तीन चोरियों का किया खुलासा

  • 4 लाख 87 हजार 523 रुपये के आभूषण जब्त
  • मध्यप्रदेश के तीन शातिर चोर गिरफ्तार
  • मुखबिर से सूचना पर हुई कार्रवाई

धुलिया. क्राइम ब्रांच पुलिस ने शिरपुर तहसील में हुई घरों में तीन चोरियों का शुक्रवार की शाम पर्दाफाश किया है. खरगोन जिले के चार शातिर अपराधियों को गिरफ्तार करने में पुलिस ने सफलता प्राप्त की है. चोरों के कब्जे से 4 लाख 87 हजार 523 रुपये चोरी की सामग्री जब्त करने में कामयाबी हासिल की है.

धुलिया अपराध निरोधक दस्ता क्राइम ब्रांच थाना प्रभारी अधिकारी शिवाजी राव बुध्वंत ने बताया कि शिरपुर तहसील परिसर में बड़े पैमाने पर आवासों में चोरी की घटना में इजाफा हुआ था. पुलिस अधीक्षक चिन्मय पंडित ने बुध्वंत को इस अंधे अपराध से पर्दा उठाने के निर्देश जारी किए थे.

क्राइम ब्रांच थाना प्रभारी अधिकारी को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई मध्य प्रदेश मोहाला सेंधवा तहसील जिला बड़वानी के कुछ आरोपी धुलिया जिले के ग्रामीण इलाकों में रात के समय रखवाली करने के साथ ही चोरी की वारदातों को अंजाम देते हैं, इस प्रकार की सूचना मिलते ही पुलिस हरकत में आई. आरोपी अपने साथियों के साथ नरवाल तालाब के पास एक खेत में छुपे बैठे हैं.

पुलिस ने छापेमारी कार्यवाही कर जतन रूमसिंग मोरे, कुंवरसिंह सुरसिंग मोरे व  लालसिंग रेन्या तडवी निवासी मोहाला, ता. सेंधवा, जि, बडवाणी को गिरफ्तार किया है. उनके पास से चोरी की मोटारसाइिकल, चांदी के आभूषण, मोबाइल आदि सामग्री जब्त की है. जांच में उन्होंने बताया कि शुक्रवार को चोरी की सामग्री सोने के आभूषण सोनू उर्फ जितेंद्र अशोक सोनार निवासी  मेहरूण, ता. जि. जलगांव को बिक्री किया है. इस सूचना पर आरोपी को पारोला चोराहे से 4 लाख, 87 हजार 523/- रुपये के आभूषण समेत गिरफ्तार किया है. आरोपी जतन रूमसिंह मोरे ने वर्ष 2018 में नेर के जैन मंदिर से गहने चोरी करने  का अपराध कबूल किया है और तब से फरार था.

तीन चोरी का खुलासा पुलिस अधीक्षक चिन्मय पंडित, अपर पुलिस अधीक्षक डॉ. श्री. प्रशांत बच्छाव के मार्गदर्शन में  क्राइम ब्रांच पुलिस निरीक्षक  शिवाजी बुधवंत, पुलिस उप निरीक्षक- हनुमान उगले, संजय पाटिल, रफीक पठाण, श्रीकांत पाटिल, महेंद्र कापुरे पो.ना. प्रभाकर बैसाणे, कुणाल पानपाटिल, गौतम सपकाले, उमेश पाटिल, रविकिरण राठोड, विशाल पाटिल, किशोर पाटिल, तुषार पारधी, मयुर पाटिल, योगेश जगताप, दिपक पाटिल व कैलास महाजन आदि ने किया है.