Former Maharashtra Revenue Minister Eknath Khadse reached ED office , said- I will cooperate in the investigation

एकनाथराव खडसे ने किया खंडन 

जलगांव. राज्यपाल कोटे से विधायक मनोनीत करने की राजनीति गरमाने लगी है. खानदेश की राजनीतिक गलियारों में शरद पवार सुप्रीमो की पार्टी एनसीपी से भाजपा के रसूखदार पूर्व मंत्री एकनाथराव खडसे का नाम एक बार फिर सुर्खियों में आने से जलगांव भाजपा की राजनीति में उफान पर आ गई. सभी अटकलों के बीच पूर्व राजस्व मंत्री तथा विशाल खानदेश के भाजपा के कद्दावर नेता एकनाथराव खडसे ने एनसीपी में शामिल होने और विधान परिषद विधायकी का खंडन किया है. उन्होंने कहा है कि उनकी इस प्रकार विधायक मनोनीत करने की चर्चा एनसीपी से नहीं हुई है. भाजपा से नाराज पूर्व राजस्व मंत्री एकनाथराव खडसे का नाम राज्यपाल कोटे से मनोनीत किए जाने की चर्चा जलगांव जिले में जोरों पर है.

विप के माध्यम से विस में भेजने की अफवाह

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी विधान परिषद के माध्यम से विधानसभा में खडसे को भेजने की तैयारी में जुटी है इस प्रकार की चर्चाओं के बीच पूर्व विधायक खडसे से उनके मन की बात जानने की कोशिश की गई.तो उन्होंने कहा कि अभी तक कोई भी चर्चा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से नहीं की गई तो नाम आने का सवाल ही नहीं उठता.गौरतलब है कि भाजपा द्वारा पूर्व  राजस्व मंत्री एकनाथराव खडसे को गत कई वर्षों से राजनीतिक वनवास पर भेजा गया है. उनकी इच्छा के विरुद्ध पार्टी द्वारा निर्णय लिए गए.उन्हें हर मोर्चे पर मात देने की कोशिश भाजपा के स्थानीय नेताओं समेत शीर्ष नेतृत्व ने की है. जिसके आहत होकर खड़से समर्थकों ने अनेक बार भाजपा से दामन छुड़ाने की गुहार लगाई थी.