मरीजों के बढ़ने पर डॉ. उल्हास पाटिल अस्पताल का होगा अधिग्रहण

अस्पताल में किया जाएगा कोविड रोगियों का इलाज 

पालकमंत्री पाटिल ने समीक्षा बैठक में दी जानकारी

कोरोना को लेकर जिला प्रशासन सतर्क

जलगांव. जिले में कोरोना संदिग्ध मरीजों की खोज ऑपरेशन में पाए जाने वाले संक्रमितों की संख्या बढ़ने की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन सतर्क हो गया है. जिलाधिकारी कार्यालय में समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए सूबे के जल आपूर्ति तथा पालक मंत्री गुलाब राव पाटील की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया था.उन्होंने कहा कि कोरोना संदिग्ध लोगों की खोज करने के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. यदि रोगियों की संख्या बढ़ती है तो कोविड रोगियों के इलाज के लिए डॉक्टर उल्हास पाटिल मेडिकल कॉलेज तथा अस्पताल का अधिग्रहण करने का निर्णय लिया जाएगा. इस प्रकार की जानकारी जिला पालक मंत्री गुलाबराव पाटिल ने कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम इलाज और उपचार पर आयोजित  समीक्षा बैठक में कहा है.

कोरोना से निपटने बन रहीं योजनाएं 

इस दौरान ज़िला परिषद अध्यक्षा रंजनाताई पाटील, सांसद उन्मेश पाटिल, विधायक गिरीश महाजन, जिलाधिकारी अभिजीत राऊत, पुलिस अधीक्षक डॉ. पंजाबराव उगले, जिला परिषद मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. बी. एन. पाटील मंचासीन थे.जिला अभिभावक मंत्री गुलाबराव पाटिल ने समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि ज़िले में फ़िलहाल कोरोना संक्रमित मरीजों की जांच पखवाड़ा अभियान आरंभ है. यदि जिले में रोगियों की संख्या में इजाफा हुआ तो डॉ. उल्हास पाटिल मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के सभी बेड का अधिग्रहण किया जाएगा और प्रभावित रोगियों का इलाज किए जाने की योजनाएं बनाई जा रही है.

सामान्य रोगियाें के लिए अलग व्यवस्था      

सामान्य बीमारियों के मरीजों को दिक्कतों का सामना ना हो इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है .इस अवधि के दौरान गैर-कोविड रोगियों को किसी भी असुविधा से बचाने के लिए सामान्य अस्पताल से कोविड अस्पताल हटा कर उसे सामान्य ज़िला अस्पताल घोषित किया जाएगा. मंत्री गुलाब राव पाटिल ने बताया कि जनप्रतिनिधियों और जिला प्रशासन की प्राथमिकता जिले में मृत्यु दर को कम करना है. 

300 बेड होंगे आक्सीजन युक्त 

लगातार प्रयास किए जा रहे हैं. इसी क्रम में ज़िला कोविड सरकारी अस्पताल में 300 बेड को ऑक्सीजन युक्त करने प्राथमिकता दी जा रही है. वर्तमान में 40 बेड का आईसीयू तैयार है, 60 बेड आईसीयू बेड पर काम चल रहा है. वहीं 180 बेड्स पर सेंट्रलाइज ऑक्सीजन पाइप लाइन का कार्य प्रगति पथ पर है.कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिले के कई विधायकों ने अनुदान राशि मुहैया कराया है.इस निधि से जिले के प्रत्येक तालुका में 50 ऑक्सीजन बेड बनाने की योजना है.

जांच कराने से घबराएं नहीं

जिला पालक मंत्री गुलाबराव पाटिल ने जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार को जिले के सभी नागरिकों की चिंता है.कोरोना संक्रमण होने पर कई नागरिक कोविड केंद्र अथवा  सामाजिक अलगांव क्वॉरेंटाइन सेंटर आने से डरते हैं.ज्यादा से ज्यादा नागरिक जांच के लिए आगे आएंगे.ऐसे नागरिकों के लिए तालुका स्तर पर इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए रोगियों के स्वयं खर्च से निजी होटल में रहने की योजना है. होटल अधिग्रहण किया जाएगा किया.

स्वास्थ्य कर्मियों की भर्ती की दोबारा प्रक्रिया

पालक मंत्री पाटील ने चिकित्सा कर्मियों की कमी पर खेद प्रकट करते हुए कहा कि कर्मियों की उदासीनता के चलते अभी तक भर्ती प्रक्रिया में कोई सामने नहीं आया है. दोबारा चिकित्सा कर्मियों की भर्ती हेतु मंगलवार से प्रक्रिया आरंभ कराई गई है. 

नियमों का करें पालन

विधायक निधि से सुझाए गए कार्यों को ज़िला प्रशासन के अधिकारी शीघ्र पूरा करें. जनता घबराए नहीं, संयम रखें बिना कार्य के घर से ना निकलें और नियमों का पालन करें.

-गुलाब राव पाटिल, पालकमंत्री