मोबाइल पर शिकायत मिलते ही अतिक्रमण ध्वस्त

जलगांव. शहर के मरीमाता मंदिर के पीछे सार्वजनिक शौचालय की जमीन पर कुछ लोगों ने अतिक्रमण (Encroachment)  कर दुकानें बनवाई थीं। इस दरमियान इसका विरोध ना होने से इन लोगों ने ऊपर की मंजिल का भी काम शुरू कर दिया। यह देख एक नागरिक ने इसकी शिकायत भुसावल नगर पालिका के मुख्याधिकारी संदीप चीद्रवार के मोबाइल पर की। मुख्याधिकारी ने इसे गंभीरता से लेते हुए तत्काल ध्वस्त कर दिया। गुरुवार को दोपहर 2 बजे नपा के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंचकर कार्रवाई में लग गये थे।

मालूम हो कि नगर पालिका ने बागवान गली में सार्वजनिक शौचालय बनाया है। शौचालय का एक हिस्सा गिर जाने से नपा ने नया शौचालय बनाया।यहां कुछ जगह खाली पड़ी थी।

दूसरी मंजिल का हो रहा था निर्माण

यह देख तीन से चार लोगों ने यहां पक्की दुकानें बना डालीं। इन लोगों ने उसी पर जब दूसरी मंजिल बनाने लगे तो एक नागरिक ने मुख्याधिकारी से मोबाइल पर शिकायत कर दी।शिकायत मिलते ही मुख्याधिकारी ने तत्काल इंजीनियर और अतिक्रमण विभाग के अधिकारियों समेत कर्मचारियों को मौके पर भेजा और कर्मचारियों ने अतिक्रमण पर हथौड़ा चलाया।एक मोबाइल की शिकायत को अधिकारी द्वारा गंभीरता से लेने से नागरिकों ने मुख्याधिकारी की प्रशंसा की।वहीं मुख्याधिकारी ने भी लोगों से आह्वान किया कि कहीं भी उन्हें अतिक्रमण होता नजर आए तो वे तत्काल इसकी शिकायत करें।

शहर को अतिक्रमण मुक्त करने का इरादा

नगर पालिका इस शहर को अतिक्रमण मुक्त करना चाह रही है। इसके लिए नागरिकों ने भी सहयोग करना आवश्यक है। निर्माण कार्य पर हथौड़ा चलानेवाले एक अधिकारी से पूछा गया कि यह अतिक्रमण ( Encroachment) किसने किया था?इस पर उसने कोई जवाब नहीं दिया।बस्ती से पता चला कि यह अतिक्रमण नगर पालिका के ही दो नगरसेवकों ने कर रखा था।उनकी गुंडागर्दी के कारण कोई आज तक शिकायत नहीं कर रहा था।एक नागरिक द्वारा मुख्याधिकारी से शिकायत करने से मुख्याधिकारी ने यह अतिक्रमण हटाया।