राकां कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज होने से भड़के गोटे

  • पुलिस व भाजपा को दी चेतावनी

धुलिया. राकां प्रदेश उपाध्यक्ष अनिल गोटे ने भाजपा को खुली चेतावनी देते हुए अधिकारियों को भी अपनी हरकतों से बाज आने को कहा है. गोटे ने एक ज्ञापन जारी कर कहा है कि राकां कार्यकर्ताओं के खिलाफ झूठी, बेबुनियाद शिकायतें कर पुलिस थानों में गुनाह दाखिल कराए जा रहे हैं. यह कभी भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. भाजपा का मुगल कारोबार अब समाप्त हो गया है. राकां कार्यकर्ताओं को किसी से डरने की जरूरत नहीं. 

पुलिस पर भाजपा की चापलूसी का आरोप

पूर्व विधायक गोटे ने कहा है कि राज्य सत्ता में बदलाव के साथ वर्ष बीत गया है. अभी भी पुलिस चापलूसी में  ही लगी हुई है. पिछले साल मैंने अधिकारियों को शांत और समझदारी से समझाने की भी कोशिश की है कि सरकारें बदलती रहती हैं. लेकिन धुलिया जिले के कुछ पुलिस अधिकारी सत्ता बदलने के बावजूद भी खुद बदलने का नाम ही नहीं ले रहे हैं. वह आज भी भाजपा नेताओं के इशारे पर नाचते हुए राकां कार्यकर्ताओं को धमका रहे हैं. ऐसे अधिकारियों की शिकायतें वरिष्ठ स्तर तक पहुंचा दी गयी है. इसलिए चाटुकार अफसर अब इस जिले में ज्यादा दिनों तक नहीं रहेंगे. 

चाटुकार अफसरों पर होगी कार्रवाई

राकां कार्यकर्ताओं ने स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार दिलवाने के लिए वंडर सीमेंट कंपनी में आंदोलन किया. किसी को भी गलत या सही का फैसला लेने का अधिकार नहीं है. यह अधिकार अदालत का है. पर एक भाजपा नेता ने पुलिस पर दबाव डालकर कुछ राकां कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाया. मैंने स्वयं पुलिस थाने में पहुंचकर सही और गलत अधिकारी के सामने रखा था.

कलमाड़ी में किसानों ने अपने गांव में तीन निजी खरीददारों को कपास बेचा. व्यापारी भी किसान हैं. किसान अपने ही भाइयों को धोखा देकर कपास खरीद रहे थे. किसानों ने महसूस किया कि वे तीनों झूठे वजन दिखाकर उन्हें ठग रहे हैं. तीनों झूठों ने पूरे गांव के सामने अपना अपराध कबूल कर लिया. अंत में प्रत्येक व्यापारी 1.5 लाख रुपए देने पर सहमति हुई. इन सभी घटनाओं के बारे में स्थानीय पुलिस को पता था. पुलिस ने यह भी माना कि सभी मामले वहीं सुलझ गए थे. इनमें से दो व्यापारी मुकटी गांव के तो एक अजंग का यानी भाजपा नेता का करीबी रिश्तेदार है. यहां भी भाजपा नेता ने किसानों को ही धमकाया. ऐसे कई प्रकरण हैं, जिससे सामने आ रहा है कि जिले में अभी भाजपा नेता अपने वजन का इस्तेमाल कर राकां कार्यकर्ताओं पर झूठे आरोप दर्ज करा रहा है. इसलिए यह नेता और पुलिस अधिकारी बाज आ जाएं, ऐसी चेतावनी भी ज्ञापन द्वारा गोटे ने दी है.