File Photo
File Photo

    जलगांव. जलगांव जिले (Jalgaon District) में कोरोना (Corona) संक्रमण ने विकराल रूप धारण कर लिया है। ‘जनता कर्फ्यू’  (Janata Curfew) लगाने के बावजूद महामारी थमने का नाम नहीं ले रही है। कर्फ्यू के पहले दिन की देर शाम एक दिन में 983 नए कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मरीज मिले। इसकी पुष्टि शुक्रवार की रात को ज़िला प्रशासन ने की है। इसमें  इलाज के दौरान 5 मरीजों की मौत हो गई थी। 

    कोरोना की दूसरी लहर ने जलगांव को देश के टॉप टेन हॉटस्पॉट में से 8वें पायदान पर लाकर खड़ा कर दिया है। प्रशासन ने नागरिकों को सतर्क रहने की अपील और स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के सभी निर्देशों का सख्ती से पालन करने का अनुरोध किया है। 

    कोरोना की चपेट में डाक्टर सहित 21 स्टाफ 

    स्थानीय प्रशासन ने कोरोना के बढ़ते खतरे के कारण शहर के सभी विद्यालय बंद कर दिए हैं। सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के डॉक्टर समेत 21 अन्य स्टाफ़ कोरोना की चपेट में आ गए हैं, इससे ज़िला प्रशासन के होश उड़ गए हैं। इलाज करने वाला स्टाफ ही बीमार होने से इलाज कौन करेगा, इस तरह सवाल खड़ा हो गया है। ज़िले में रोगियों की संख्या दिन-प्रति दिन बढ़ती जा रही है, जिला एक बार फिर लॉकडाउन की ओर बढ़ रहा है। यदि शहर में लॉकडाउन फिर से कर दिया गया तो संकट और गहराएगा, रोजगार बंद हो जाएंगे, उद्योग और व्यवसाय बंद हो जाएंगे, बेरोजगारी, वित्तीय संकट पैदा हो जाएगा, फिर से संकट और तालाबंदी से बचने के लिए नागरिकों को स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के सभी निर्देशों का सख्ती से पालन करना आवश्यक है।

    नियंत्रण से बाहर होता जा रहा कोरोना

     प्रशासन ने कोरोना प्रकोप को कम करने के लिए सभी को मास्क पहनने, अपने हाथों को बार-बार धोने, शारीरिक दूरी का पालन करने, भीड़ से बचने और भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचने की अपील की है। जिले में कोरोना संक्रमण नियंत्रण से बाहर हो गया है। जलगांव देश में सक्रिय रोगी जिलों में आठवें स्थान पर है। आंकड़ों के अनुसार, सक्रिय मरीजों वाले शीर्ष दस जिलों में राज्य के आठ जिले शामिल हैं। लगातार तीसरे दिन शुक्रवार को जिले में मरीजों की संख्या 900 को पार कर गई। दिन भर में, 982 नए रोगी सामने आए।  परिणामस्वरूप, कोरोना रोगियों की कुल संख्या बढ़कर 68,662 हो गई। इसी तरह से सक्रिय रोगियों की संख्या बढ़कर 6,713 हो गई है। कोरोना को मात करने वालों की संख्या भी 60 हजार 517 के कगार पर पहुंच गई है। 

    मृतकों की संख्या बढ़ने से प्रशासन को छूटा पसीना

    चार दिनों में मरने वालों की संख्या 22 हो गई है, जिसके चलते मृतकों की संख्या चिंताजनक तौर पर बढ़ रही है। इससे प्रशासन को पसीन छूट रहा है। कोरोना की दूसरी लहर से सबसे अधिक जलगांव शहर प्रभावित हुआ है। बीती शाम को जलगांव महानगर में 363 मरीज पाए गए। भुसावल चालीसगांव और चोपड़ा कोरोना के ज़िले में हॉट स्पॉट बने हुए हैं।