75 नए मरीजों से दहला जलगांव

एक दिन में पारोला में 37 मरीज,

जलगांव-धुलिया बना कोरोना का हॉट स्पॉट

जलगांव. जिला प्रशासन तथा सूबे की सरकार की लाख कोशिश के बावजूद जलगांव जिले में कोरोना वायरस की स्थिति दिन-ब-दिन गंभीर बनती जा रही है. शनिवार की देर शाम को जिला अस्पताल में 75 मरीजों का पॉजिटिव बम फोड़ा है.एक ही दिन में पारोला तहसील में 37 मरीज पॉजिटिव मिलने से जिले में हड़कंप मच गया है.ज़िले में संक्रमित मरीजों की संख्या 2049 पहुंच गई. जिलाधिकारी अभिजीत राऊत ने बताया कि कोरोना संक्रमण से ज़िले में तेजी से मरीज स्वास्थ्य हो रहे हैं. इसका प्रतिशत देश की तुलना में 6% जलगांव जिले में अधिक है.

1250 मरीजों ने जीती जंग

अभी तक 1250 व्यक्तियों ने कोरोना पर मात दी है. कोरोना वायरस के नए मामलों को रोकने के लिए और मृत्यु दर कम करने के लिए सरकार प्रयास में जुटी हुई है. जिले में प्रति दिन वायरस की विकराल स्थिति बनी हुई है. जिला कोरोना संक्रमण का हॉटस्पॉट बना हुआ है. प्रति दिन सैकड़ों की संख्या में प्रभावित मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. वायरस  संक्रमण के कारण मौतों का सिलसिला दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है. शुरुआत में वायरस ने अमलनेर और जलगांव को निशाना बनाया था. इसके बाद से जिले की सभी तहसीलों में कोरोना का हॉटस्पॉट बना रहा.

कोरोना का कहर जारी

इसके बाद सबसे अधिक संक्रमण भुसावल तहसील में कोरोना वायरस ने कहर बरपाया है. अब जलगांव चोपड़ा और पारोला भी कोरोना के नए हॉटस्पॉट बन गए हैं. बढ़ते मरीजों के कारण ज़िले में दहशत मची हुई है. ज़िला कोविड-19 में संदिग्ध मरीजों के स्वैब का परीक्षण किया गया, जिसमें शनिवार की देर शाम को जिला प्रशासन 75 रोगियों को पॉजिटिव की पुष्टि की, जिसमें जलगांव  शहर 12, भुसावल 9, अमलनेर 4, धरणगांव 2, यावल 2, एरंडोल 3, जामनेर 1, रावेर 5, पारोला से 37 मरीज पाए गए.