New Rules of Lockdown
File

    धुलिया. कोरोना (Corona) संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने के लिए जिला प्रशासन (District administration) और धुलिया महानगरपालिका प्रशासन (Dhulia Municipal Corporation Administration) ने कमर कस ली है। रविवार की शाम 6 बजे से ‘जनता कर्फ़्यू’ (Janata Curfew)शुरू किया गया, जो  बुधवार की सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा।

    प्रशासन (Administration) ने नागरिकों से अनुरोध किया है कि बिना उचित कारण के सड़कों पर ना निकलें। यदि नियमों का उल्लंघन करते पाए गए तो उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस तरह की चेतावनी भी महानगरपालिका आयुक्त अजीज शेख ने दी है।

    घर में ही रहना होगा

    शहर सहित जिले में सार्वजनिक कर्फ्यू 60 घंटों का रविवार शाम 6 बजे से शुरू हो चुका है। नागरिकों को 60 घंटे घर पर रहना होगा। जनता कर्फ्यू के दौरान महानगरपालिका और पुलिस दस्ते को बिना किसी कारण के सड़कों पर चलते मिले तो ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। दूध की बिक्री का समय भी निर्धारित किया गया है।

     संक्रमण से जिले में मचा हाहाकार

    सप्ताह भर से कोरोना संक्रमण ने धुलिया शहर सहित ज़िले में हाहाकार मचा दिया है। प्रतिदिन तीन सौ साढे़ तीन सौ संक्रमित मरीज मिल रहे हैं।  इस महामारी की श्रृंखला को तोड़ने के लिए व्यापारियों और मुख्य अधिकारियों के साथ बैठक कर प्रभारी जिला कलेक्टर दिलीप जगदाले ने धुलिया में जनता कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। प्रभारी जिलाधिकारी दिलीप जगदाले ने कहा है कि इस अवधि के दौरान सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। केवल आवश्यक सेवाओं को जनता कर्फ्यू से बाहर रखा गया है।  जनता कर्फ़्यू  के दौरान लोग घर पर रहकर प्रशासन का सहयोग करें। साथ ही बिना किसी कारण के सड़क पर चलने वालों के खिलाफ महानगरपालिका और पुलिस दंडात्मक कार्रवाई के साथ अपराध दर्ज किए जाएं।  इस बारे में अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।

    अत्यावश्यक दुकानें रहेंगी खुली

    जिला प्रशासन ने महानगरपालिका क्षेत्र में मेडिकल अस्पताल तथा इमरजेंसी सर्विसेस को छोड़कर अन्य सभी सुविधाओं का लाभ ‘लॉक’ कर दिया है। इस दौरान किसी भी प्रकार का कोई प्रतिष्ठान खुला दिखाई दिया तो उसके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

    दूध विक्रेताओं के लिए समय  निर्धारित

    ग्रामीण इलाकों से आने वाले दूध विक्रेताओं के लिए महानगरपालिका प्रशासन ने समय निर्धारित किया है। निर्धारित समय के अलावा सड़कों पर दूध बिक्री करने वाले विक्रेताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसी तरह से निर्धारित समय पर ही बिक्री के लिए विक्रेता आएं। इस तरह की अपील भी प्रशासन ने की है।