भूमि अधिग्रहण: किसानों को शीघ्र दें मुआवजा

  • ठेकेदार ने की किसानों से धांधली
  • नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट लिखवाया

जलगांव. नसीराबाद में किसानों की भूमि का उपयोग राष्ट्रीय राजमार्ग के चार लेन के दौरान उच्च दबाव पाइप लाइनों के लिए किया गया है और अभी तक कोई मुआवजा नहीं दिया गया है. संबंधित ठेकेदार ने धांधली कर किसानों से नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट लिखवा दिए हैं. पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच करा कर किसानों को मुआवजा देने की मांग जिला परिषद के उपाध्यक्ष लालचंद पाटिल के नेतृत्व में सोमवार जिला कलेक्टर प्रांगण में प्रशासन की उदासीनता के खिलाफ प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा गया, जिसमें इन किसानों को तत्काल मुआवजा देने की मांग की गई.

जि. प. उपाध्यक्ष पाटील ने डीएम से की मांग

जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर ज़िप उपाध्यक्ष पाटिल ने जिलाधिकारी अभिजीत राऊत को अवगत कराया कि नागपुर सूरत महामार्ग के लिए फोर लाइन सड़क परियोजना का काम चालू है. सरकार ने उच्च दबाब की बिजली लाइन के लिए किसानों की भूमि अधिग्रहित किया है. जिसका मुआवजा किसानों को अभी तक नहीं मिला है. नसीराबाद में राष्ट्रीय राजमार्ग नं 6 पर फोरलेन का कार्य प्रगति पथ पर है. नसीराबाद -बोदवड़ मार्ग को बाईपास करने के लिए उच्च-वोल्टेज विद्युत लाइन फ्लाईओवर से पार कर रही है, जहां फ्लाईओवर पर काम चल रहा है. इस फ्लाईओवर के पूरा होने के बाद, यातायात को सुचारु और सुरक्षित बनाने के लिए, इस बिजली लाइन को ऊपर उठाने और स्थानांतरित करने का काम चल रहा है.

सरकार के फैसले का ठेकेदार ने किया उल्लंघन

बिजली लाइनों को स्थानांतरित करते समय, ठेकेदार ने सरकार के फैसलों का उल्लंघन किया है. इसी तरह किसानों से अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी करवा लिया है. सरकारी अध्यादेश के 31के अनुसार स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि कलेक्टर स्तर पर एक समिति का गठन करके उच्च दबाव टॉवर द्वारा कवर की गई भूमि को मापने और प्रस्ताव के अनुसार मूल्यांकन करके मुआवजा निर्धारित करने के निर्देश दिए गए हैं. किंतु इस निर्देश के अनुसार किसानों को मुआवजा नहीं दिया गया. तत्काल समिति गठन कर किसानों को उचित मुआवजा दिए जाने की मांग जि. प. उपाध्यक्ष लालचंद पाटील ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर की है.