Millions of tonnes of cotton lying in the homes of farmers, BJP officials sent request to CM

  • पहले व्यापारियों से खरीदी जा रही कपास
  • किसानों को कराया जा रहा घंटों इंतजार

जलगांव. सरकारी कपास खरीदी केंद्रों पर बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां होने का आरोप लग रहा है। जिला कलेक्टर ने इस समस्या का निराकरण करने के लिए समिति गठित की है और इस मुद्दे को हल करने के लिए एक बैठक बुलाई है। कपास की खरीद प्रक्रिया में कानून और व्यवस्था को बनाए रखने के लिए तालुका स्तर पर विवादों को हल करने तालुका उप पंजीयक की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया है। जिले में हाल ही में सरकारी कपास खरीद केंद्र शुरू किए गए हैं।

कलेक्टर ने बुलाई बैठक

किसानों ने आरोप लगाया है कि इन केंद्रों का दुरुपयोग किया जा रहा है। आरोप है कि व्यापारी वर्ग की कपास केंद्र पर पहले खरीदी जा रही है। किसानों को घंटों इंतजार कराया जा रहा है। इस साल भी किसानों का आर्थिक शोषण हो रहा है क्योंकि वे टोकन के आधार पर कपास खरीद रहे हैं। कपास घट की आड़ में भी लूट जारी है। इन शिकायतों का निपटारा करने के लिए जिला कलेक्टर ने CCI, विपणन महासंघ और जिला उप पंजीयक के प्रतिनिधियों की एक बैठक बुलाई है।