पालकमंत्री के बाद कोरोना जंग में कूदीं महापौर

  • मेरी जिम्मेदारी मेरा परिवार अभियान का आगाज
  • अपने परिवार के स्वास्थ्य की कराई जांच

जलगांव. कोरोना वायरस के कारण जिले में बिगड़ते हालात को काबू में करने के लिए महापौर भारती सोनवणे पालक मंत्री के बाद खुद मैदान में उतरी हैं. इस बार उन्होंने शुरुआत अपने घर से की है. मनपा स्वास्थ्य कर्मियों को बुलाकर बुधवार को मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी अभियान का श्री गणेश अपने परिजनों की जांच कराकर करायी है.उन्होंने परिवार की सुरक्षा के लिए सभी लोगों से जांच कराने एवं मेडिकल परीक्षण टीमों का सहयोग करने की अपील की है.

जलगांव की हालत अधिक चिंताजनक

ज़िले में कोरोना वायरस की रफ्तार लगातार बढ़ रही है. खानदेश की आर्थिक राजधानी जलगांव के हालात सबसे खराब हैं. संक्रमण की रफ्तार को कम करने के लिए महापौर शहर में जी तोड़ मेहनत कर रही हैं. गत 2 दिनों से मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी है अभियान को महानगर पालिका क्षेत्र में व्यापक पैमाने पर शुरू किया गया है. नागरिकों के स्वारथ्य की जांच कराने के लिए 151 दलों का गठन किया गया है. इस अभियान के तहत कोरोना को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए बुधवार से मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी अभियान की शुरुआत महापौर के परिवार की जांच पड़ताल से शुरू कराई गई.

अस्पतालों में पर्याप्त सुविधाएं : महापौर

महापौर भारती सोनवणे ने इस बीच नागरिकों को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के संपूर्ण नाश के लिए प्रशासन ने व्यापक पैमाने पर तैयारी की है. घर घर जाकर सभी व्यक्तियों के स्वास्थ्य की जांच की जाएगी. नागरिकों को घबराने की कोई जरूरत नहीं है. अस्पतालों में व्यापक पैमाने पर ऑक्सीजन और दवाइयां उपलब्ध कराई गई हैं.

कोरोना को भगाने जन सहयोग जरूरी

जलगांव शहर को कोरोना से मुक्त कराने के लिए सभी नागरिक जांच दलों का सहयोग करें और परीक्षण कराएं, तब ही इस महामारी बीमारी को मात दिया जाएगा. संदिग्ध रोगियों का तत्काल स्वस्थ कर्मियों की सूचना पर  कोरोना परीक्षण कराएं, इस तरह की अपील महापौर सोनवणे ने नागरिकों से की है.