बिजली बिल कम करने मनसे का आंदोलन

  • महाविकास आघाडी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला

जलगांव. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की ओर से महाविकास आघाडी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला गया है. मनसे ने लॉक डाउन अवधि में बिजली उपभोग्ताओ को बड़े बिलों का जोरदार झटके के खिलाफ गुरुवार को अधिक बड़े बिजली बिल को रद्द करने के लिए जिला कलेक्टर कार्यालय के सामने आंदोलन किया. साथ ही विभिन्न मांगों की पूर्ति का ज्ञापन कलेक्टर राउत को दिया.

जिला प्रशासन को सौंपे ज्ञापन में मनसे ने कहा कि कोरोना युग के दौरान कई नागरिकों को नौकरियों से हाथ धोना पड़ा, व्यवसाय बंद हो गए और लोग बेरोजगार हो गए.  ऐसे बुरे समय में महाविकास गठबंधन सरकार ने बिजली के बिल में भारी वृद्धि कर प्रदेश की जनता को एक तरह से जोरदार करंट लगाया है. एक ही समय में आय से अधिक बिजली बिल आने से उपभोक्ता दुविधा में हैं. 

उपभोक्ताओं के बिजली के बिलों को कम नहीं करने की सरकार की नीति के खिलाफ सरकार के फैसले के विरोध में आज जिला कलेक्टर कार्यालय के सामने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने आंदोलन कर विरोध किया और बिल कम करने की वकालत करते हुए कहा कि सरकार को बढ़े हुए बिल को तत्काल कम करे अन्यथा लोगों की ओर से सरकार को झटका देना होगा.

इस अवसर  पर एड. जयप्रकाश बाविस्कर, जमील देशपांडे, मुकुंद शेटे, विनोद शिंदे, आशीष सपकाले, अशोक पाटिल, पंकज चौधरी, योगेश पाटिल, राजेंद्र निकम, विनोद पाठक, राहुल काले, गणेश नेरकर, चेतन अडकर, बलिराम पाटिल, निलेश खैरनार, महेश माली, श्रीकृष्ण मेंडके, तुषार सालुंके, किशोर पाटिल, अमोल वाणी, सागर अत्तार, तुषार पाठक, तुषार तालेले, रज्जाक सैयद, गोविंद जाधव, शाहिद खटीक, अमोल माली आदि उपस्थित थे.