किसान विरोधी कानून के खिलाफ रिलायंस पेट्रोल पंप पर आंदोलन

जलगांव. केंद्र सरकार ने किसान विरोधी कानून प्रारित किया है। इस कानून का विरोध करते हुए यहां की सामाजिक और किसान संगठनों के पदाधिकारियों ने गुरुवार को नगर स्थित रिलायंस पेट्रोल पंप (Reliance Petrol Pump) पर आंदोलन किया।

आंदोलनकारियों ने कहा कि रिलायंस (Reliance) जैसे पूंजीपतियों की हित में सरकार काम कर रही है। इसलिए यह आंदोलन रिलायंस पर किया गया। यहां आंदोलनकारियों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर काला कानून वापस लेने की मांग की है। 

गांव-गांव जाकर करेंगे रिलायंस, अडानी के खिलाफ जनांदोलन

दिल्ली में बीते पंद्रह दिनों से किसानों के आंदोलन को समर्थन देने के लिए और अडानी, अंबानी जैसे पूंजीपतियों के हित में काम करने वाली सरकार के खिलाफ आवाज उठाने के लिए कई लोग हाईवे स्थित रिलायंस पेट्रोल पंप पर पहुंचे और वहां आंदोलन किया। यह लोग अब 11 दिसंबर से गांव-गांव जाकर रिलायंस, अडानी के खिलाफ जनांदोलन करेंगे।

रिलायंस पेट्रोल पम्प पर हुए आंदोलन के दौरान छावा मराठा युवा महासंघ के अमोल कोल्हे, मनियार बिरादरी के फारूक शेख, लोक संघर्ष मोर्चा के सचिन धांडे, बुलंद छावा संगठन के प्रमोद पाटिल, नियाज अली मल्टीपर्पज फाउंडेशन के अयाज अली, सावरकर रिक्शा यूनियन के दिलीप सपकाले, श्रीकांत मोरे, फारुख कादरिया, जिया बागवान, सिद्धार्थ शिरसाठ, योगेश गाजरे, दामू भारंबे, फईम पटेल, अभिषेक कदम समेत कई पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद थे।