मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी अभियान, 151 टीमों का किया गया गठन

  • महापौर ने की जनता से मदद करने की अपील

जलगांव. कोरोना का प्रकोप रोकने के लिए जलगांव शहर में महानगर पालिका प्रशासन के तत्वावधान में मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी अभियान चलाया जा रहा है. जिसके चलते 151 टीमों का गठन महानगर  में किया गया है. सभी नागरिक जांच दल का सहयोग करें. इस तरह की अपील महापौर भारती सोनवणे ने जलगांव वासियों से की है.

सर्वदलीय बैठक का आयोजन

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निर्देश के अनुसार प्रदेश भर में मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी अभियान कोरोना संक्रमण को मात देने के लिए चलाया जा रहा है. जलगांव शहर में इस अभियान पर अमल करने के लिए महानगर निगम महापौर सोनवणे  की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक का आयोजन किया गया था.इस दौरान उन्होंने नागरिकों से सहयोग करने की अपील की. इस मौके पर स्थायी समिति सभापति एड. शुचिता हाडा, महिला व बालकल्याण सभापति शोभा बारी, मनपा आयुक्त सतीष कुलकर्णी, नगरसेवक कैलास सोनवणे, भाजपा गटनेता भगत बालाणी, सभागृह नेता ललित कोल्हे, शिवसेना विरोधी पक्षनेता सुनील महाजन, नितिन लड्ढा, एमआयएम गटनेता रियाज बागवान, नगरसेवक विशाल त्रिपाठी, नवनाथ दारकुंडे, अतुल बारी आदि पार्षद  उपस्थित थे.

अधेड़ व्यक्तियों का कराएं जांच

सर्वदलीय पार्षदों को संबोधित करते हुए महापौर भारती सोनवणे ने कहा कि मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी इस अभियान के तहत शहर के अधेड़ व्यक्तियों का सर्वेक्षण हर घर घर जाकर कराया जाए. सभी कर्मी इस अभियान में जी तोड़ मेहनत कर कोरोना को नष्ट करने का प्रयास करें. प्रशासन अभियान को 100 प्रतिशत सफल बनाने योजना बनाए. महापौर  भारती सोनवणे ने कहा कि नागरिकों के मन में व्याप्त भय को दूर करने के लिए बड़े पैमाने पर जन जागरूकता पैदा करने अभियान को शहर के पार्षदों, गणमान्य व्यक्तियों और विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा सहयोग करने की उन्होंने अपील की है.

लोगों के मन से कोरोना का डर खत्म

यदि किसी व्यक्ति में जांच करते समय कोरोना लक्षण  दिखाई दे तो उसका सटीक निदान के लिए RTPCR परीक्षण किये जाने के निर्देश उन्होंने दिया. नगर आयुक्त सतीश कुलकर्णी ने कहा कि निगम प्रशासन द्वारा सावधानीपूर्वक योजना बनाई जा रही है और अभियान के दोनों चरण सफल होंगे. अभियान के मद्देनजर एंटीजन टेस्ट किट का भी आदेश दिया गया है. मनपा आयुक्त ने कहा कि यह अच्छी बात है कि जलगांव के लोगों के मन में कोरोना का डर खत्म हो गया है, लेकिन हाल ही में यह देखा गया है कि लोग अधिक उदासीन हो गए हैं.  

15 प्रतिशत लोग नहीं लगा रहे मास्क

शहर में लगभग 15% लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं. वर्तमान में कई नागरिकों द्वारा लगातार हाथ धोने, सैनिटाइजर के उपयोग, शारीरिक दूरी के पालन जैसे उपाय भी नही किये जा रहे  हैं. कोरोना के प्रति लापरवाही बहुत खतरनाक है और नागरिकों को अपना और अपने परिवार का ध्यान रखने की अपील आयुक्त कुलकर्णी ने किया है.