राकां का मनपा के खिलाफ आंदोलन

  • शहर की समस्याओं को लेकर आक्रामकता

धुलिया. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकां) ने आज धुलिया शहर की विभिन्न मांगों को लेकर महानगर पालिका के खिलाफ जोरदार आंदोलन किया. पार्टी जिलाध्यक्ष रंजीत राजे भोसले के नेतृत्व में यह आंदोलन हुआ.शहर के बंद स्ट्रीट लाइटों की समस्या,सड़कों की दयनीय स्थिति, घंटा गाड़ियों की खराब योजना, कुछ स्थानों पर कूड़े के ढेर तथा महानगर पालिका का लापरवाही वाले रवैये के खिलाफ यह आंदोलन किया गया.

विभिन्न समस्याओं से जूझ रहे लोग

धुलिया शहर आज विभिन्न समस्याओं से त्रस्त है. पूरे शहर में घूमने के बाद पता चलता है कि शहर की सारी सड़कें खस्ताहाल हो गयी हैं. कई जगहों पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं. जिस पर से चार पहिया वाहन भी ठीक से नहीं चल सकते. खराब सड़कें, गड्ढे शहर में हर दिन दुर्घटनाओं का कारण बन रही हैं.महानगर पालिका द्वारा कहीं भी सड़कों की मरम्मत नहीं हो रही है. शहर में कचरे की समस्या बहुत गंभीर है,जगह-जगह कॉलोनी में कचरे के ढेर लगे हुए हैं. बस्तियों में कचरा उठाने के लिए नियमित रूप से घंटा गाड़ियां नहीं आ रही हैं.

कई घंटा गाड़ियां बंद

पता चल रहा है कि मनपा की कई घंटा गाड़ियां बंद पड़ी हुई हैं. सभी ओर गंदगी फा अंबार लगने से आम लोगों का स्वास्थ्य खतरे में आ गया है. इसी तरह शहर की कई स्ट्रीट लाइटें बंद पड़ी हैं.इस संबंध में शिकायत करने के बाद भी संबंधित कर्मचारी, अधिकारी स्ट्रीट लाइट दुरुस्त नहीं कर रहे हैं. इससे शहर में अंधेरे का लाभ उठाते हुए चोरी की घटनाओं में वृद्धि हुई है.यह बात रंजीत भोसले ने उपस्थितों के सामने रखते हुए पालिका की कार्य प्रणाली पर नाराजगी व्यक्त की.

 स्ट्रीट लाइटें बंद होने से अपराध बढ़े

भोसले का कहना है कि शहर के नागरिक विभिन्न समस्याओं  से त्रस्त हो चुके हैं.खराब सड़कों से दुर्घटनाओं में वृद्धि हो रही हैं. स्ट्रीट लाइट बंद होने से लूटमार,छीना झपटी,और चोरियां बढ़ गयी हैं. पूरा शहर ही गंदगी से भरा नजर आ रहा है. महानगर पालिका अधिकारी इस ओर जानबूझकर ध्यान नहीं दे रहे हैं.वह लोगों को धोखा देने का काम कर रहे हैं. हालांकि लोगों की शिकायतों को देखते हुए महानगर पालिका के अधिकारियों को सड़क खोदने वाले ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई कर उन्हें काली सूची में डालना चाहिए. महानगर पालिका के पास 500 से 700 करोड़ रुपयों का बजट है लेकिन नागरिकों की समस्याओं को हल करने के लिए मनपा द्वारा एक भी रुपया खर्च नहीं किया जा रहा है.

इस समय जिला  कार्याध्यक्ष तेजस गोटे, महेंद्र शिरसाठ, जमीर शेख, प्रकाश जाधव, सरोजताई कदम, धनराज शिरसाठ, लल्लू भैय्या, उमेर अन्सारी, मुख्तार मन्सूरी, सलीम बारी, सलीम मंत्री, सलीम लंबू, नितीन चौधरी, संजय बगदे, उमेश महाले, नंदू येलमामे, जोसेफ मलबारी, सत्यजीत सिसोदे, राजेंद्र चितोडकर, संजय माली, जीतू पाटिल, सुभाष पाटिल, वामन मोहिते, किरण बागुल, कुणाल वाघ, शकील ईसा, मनोज कोलेकर, भूषण कटारिया, रजनीश निंबालकर समेत कई कार्यकर्ता मौजूद थे.