नए डीएम के तल्ख तेवर से सकते में अधिकारी

मरीजों के इलाज में बर्दाश्त नहीं होगी लापरवाही

कोरोना टेस्ट परीक्षण में लाएं तेजी

नवनियुक्त कलेक्टर अभिजीत राऊत ने दिया आदेश

नए जिलाधिकारी से जगी आस

जलगांव. जलगांव के नवनियुक्त जिलाधिकारी अभिजीत राऊत ने पदभार ग्रहण के बाद शुक्रवार को जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया. उन्होंने चिकित्सा कर्मी जिला शल्य चिकित्सक मेडिकल कॉलेज के डीन आदि से जलगांव की कोरोना विस्फोटक स्थिति का जायजा लिया. स्वास्थ्य विभाग को तत्काल कोरोना परीक्षण की जांच रिपोर्ट में तेजी लाने के निर्देश जिलाधिकारी राऊत ने दिया है.

मरीजों की बढ़ती मौत चिंताजनक

शुक्रवार की सुबह जिलाधिकारी कार्यालय में कलेक्टर अभिजीत राऊत ने सरकारी मेडिकल कॉलेज के डीन जयप्रकाश नारायण, सिविल सर्जन, डीएचओ व अन्य अधिकारियों की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया था. इस मौके पर उन्होंने अधिकारियों को जोरदार फटकार लगाई और कहा कि इतने बड़े पैमाने पर प्रभावितों की मृत्यु चिंताजनक है. मरीजों के इलाज में लापरवाही और मेडिकल कॉलेज की वीडीआरएल लैब में परीक्षण के नतीजों की देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी. तत्काल परीक्षणों की गति बढ़ाएं और मरीज़ को समय पर देखभाल और उचित उपचार मुहैया कराने के निर्देशक जिलाधिकारियों ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दिया है.

अस्पताल का किया निरीक्षण

समीक्षा बैठक के उपरांत जिलाधिकारी अभिजीत राऊत ने अधिकारियों के साथ कोविड-19 अस्पतालों का औचक निरीक्षण किया है. इस अवसर पर प्रशासक तथा जि.प.सीईओ बी.एन. पाटिल, अधिष्ठाता डॉ. जयप्रकाश रामानंद, वैद्यकीय अधीक्षक डॉ.दत्तात्रय बिराजदार, डॉ.मधुकर गायकवाड, डॉ.मारुति पोटे ने कलेक्टर राऊत को जिला सरकारी अस्पताल तथा मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध सेवा ही मरीजों की उनकी स्थिति की जानकारी दी. 

अधिकारियों को लगाई फटकार

इस मौके पर कलेक्टर ने जिला अस्पताल के अधिकारियों को जमकर लताड़ा है उन्होंने तत्काल जिला अस्पताल की खस्ता शौचालय के दरवाजे खिड़कियां दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं. जिला अस्पताल के राम भरोसे व्यवस्थापन पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी का इजहार किया है. उन्होंने जिला अस्पताल कोविड सेंटर में आचार संहिता का अनुपालन करने के आदेश भी दिए हैं जिसके तहत अब कोरोनावायरस के संक्रमित मरीजों के परिजनों का अस्पताल में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी. रोगियों से  परिजनों के संपर्क हेतु प्रत्येक वार्ड में मोबाइल फोन की व्यवस्था करें, मरीजों को स्वच्छ कपड़े मुहैया कराने के साथ ही कौन से वार्ड में कितने मरीज भर्ती है, कहां से हैं अधिक जानकारी बोर्ड पर लिखने के आदेश भी जिलाधिकारी ने जिला अस्पताल के अधीक्षक को दिए हैं.

सीरियस मरीजों की रोज दें सूची

जिलाधिकारी ने सीरियस मरीजों की स्थिति की जानकारी प्रत्येक दिन जिलाधिकारी को अवगत कराने की सूचना दी है और मरीजों की उचित देखभाल के साथ मृत्यु दर कम करने व्यापक पैमाने पर मरीजों की तीमारदारी करने के आदेश भी जिला अस्पताल प्रशासन को कलेक्टर ने दिया है.जिला अस्पताल प्रशासन ने कलेक्टर को स्टाफ की कमी का रोना रोया और चिकित्सक स्टाफ बढ़ाने की गुहार भी लगाई है. जिसका संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी राउत ने मरीजों की मदद के लिए 20 स्वास्थ्य स्वयं सेवकों की भर्ती करने को कहा है. जिलाधिकारी का औचक निरीक्षण ज़िला अस्पताल कोविड सेंटर में अधिकारियों में हड़कंप मच गया. स्थानीय नागरिकों ने नए कलेक्टर और नए डीन से आशाएं  लगा रखी हैं. अब जलगांव ज़िले में नए अधिकारी के जोश और निर्देशन में जिला कोरोना मुक्त और मृत्यु दर कम होगी, इस तरह की आशाएं जिलाधिकारी से लोगों ने लगाई है.