भाजपा ही कर सकती है धुलिया का विकास: पटेल

  • 700 करोड़ भाजपा ने धुलिया के विकास के लिए दिया
  • कार्यशैली से प्रभावित होकर भाजपा में हुआ शामिल

धुलिया. वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री अमरीश पटेल ने कहा है कि मैं पिछले कई वर्षों से राजनीतिक क्षेत्र जुड़ा हूं. इन सभी वर्षों में मैंने कभी नहीं देखा कि सरकार ने एक शहर के विकास के लिए 700 करोड़ रुपये प्रदान किए हों, लेकिन धुलिया वास्तव में भाग्यशाली है. भाजपा ने इस शहर के विकास के लिए 700 करोड़ रुपये की परियोजनाओं को मंजूरी दी है.

केंद्र में मोदी सरकार और पिछले 5 वर्षों में देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली सरकार का काम देखने के बाद मैं भाजपा में शामिल हुआ. यह सोचकर कि धुलिया का विकास सिर्फ भाजपा ही कर सकती है. वे भारतीय जनता पार्टी की ओर से धुलिया महानगर के पदाधिकारियों, नगरसेवकों और कार्यकर्ताओं के लिए आयोजित प्रशिक्षण वर्ग को संबोधित कर रहे थे. यह आयोजन पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री सुभाष भामरे के राम पैलेस संपर्क कार्यालय में किया गया था. इस समय पूर्व मंत्री अमरीश पटेल प्रशिक्षण वर्ग का उद्घाटन किया. इस समय सांसद डॉ. सुभाष भामरे, विधायक जय कुमार रावल मौजूद थे. कार्यक्रम का प्रास्ताविक जिलाध्यक्ष अनूप अग्रवाल ने किया.

इस अवसर पर उपस्थित भाजपा के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन करते हुए अमरीश पटेल ने कहा कि जनप्रतिनिधि एक ऐसा व्यक्ति है, जो जमीनी स्तर पर लोगों के बारे में सोचता है. मैं कई सालों तक ईमानदारी से काम कर रहा हूं. मैंने काम में 5 रुपये का भ्रष्टाचार भी नहीं किया. इसलिए लोगों ने मुझे नेता के रूप में स्वीकार किया. यही कारण है कि 4 बार विधानसभा के लिए चुना गया तो अब तीसरी बार निर्वाचन क्षेत्र से स्थानीय निकाय विधान परिषद के लिए खड़ा हूं. मैं भाजपा में शामिल हुआ, क्योंकि मुझे भारतीय जनता पार्टी की सोच और कार्यशैली पसंद थी.

देवेंद्र ने सिखायी विकास की रणनीति

मैंने पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ विस्तृत चर्चा की, उन्होंने मुझे विकास की रणनीति के बारे में बताया. मैंने केंद्र और राज्य में भारतीय जनता पार्टी सरकार द्वारा किए गए कार्यों को देखने के बाद भाजपा में शामिल होने का फैसला किया. मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि एक शहर को विकास के लिए 700 करोड़ रुपये दिए जाएंगे, लेकिन भाजपा सरकार ने धुलिया को 700 करोड़ रुपये दिए. शहर में विकास कार्य चल रहे हैं.आज अंडरग्राउंड गटर के कामों के चलते नागरिकों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है.जिससे उनके क्रोध का सामना जन प्रतिनिधियों को करना पड़ रहा है. पर जब इस परियोजना का काम पूरा हो जाएगा, तब नागरिक ही खुद अपनी ख़ुशी जताएंगे.

पेयजल समस्या हल करने बिछाई जा रही पाइप

पेयजल समस्या के समाधान के लिए अक्कलपाड़ा बांध से शहर तक पाइपलाइन बिछाने का काम भी चल रहा है. जगह-जगह सड़कें बन रही हैं, धुलिया शहर में ये सभी काम लोगों की बुनियादी समस्याओं को हल करने वाले हैं.जो गरीबों के लिए काम करता है उसे जनता द्वारा चुना जाता है. मैंने स्वयं इसका अनुभव किया है. इसलिए, इस विकास कार्य के लिए, मुझे एक बार फिर सभी के सहयोग की आवश्यकता है, पूर्व मंत्री अमरीश पटेल ने ही यह अपील की. प्रशिक्षण वर्ग के दौरान महापौर चंद्रकांत सोनार, उप महापौर कल्याणी अम्पलकर, स्थायी समिति के अध्यक्ष सुनील बैसाने, जिला परिषद के अध्यक्ष तुषार रंधे, पूर्व महापौर जयश्री अहिरराव, वरिष्ठ नेता हिरामन गवली, विजय पाछापुरकर, चंद्रकांत गुजराती, नगरसेवक युवराज पाटिल,संजू पाटिल,शीतल नवले,संतोष खताल,अमोल मासूले,अमृता पाटिल,किरण कुलेवार,सुरेखा उगले,प्रतिभा चौधरी की उपस्थिति थी.

भू-माफियाओं ने विकास में बाधा डाली : डॉ. भामरे

सांसद सुभाष भामरे ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में धुलिया शहर सहित जिले में भू -माफिया बढ़ गए हैं. भू-माफियाओं का उपयोग विकास कार्यों में बाधा डालने के लिए किया जाता है. कुछ भू-माफिया धुलिया में सरकारी भूखंडों पर कब्जा जमाए हुए हैं. सुलवाडे-जामफल निकासी सिंचाई योजना के काम में यह भू-माफियावों ने बड़े रोडे डाले. गरीब किसानों की जमीन सस्ते दामों में खरीदकर  भू -माफिया उसे महंगे दाम पर बेचते हैं. ऐसे भू-माफियाओं का तत्काल बंदोबस्त करना जरूरी है.