Corona-

    धुलिया. पंचायत समिति कार्यालय में कोरोना से प्रभावित दो लोगों की एंट्री होने से हड़कंप मच गया है। महानगर निगम प्रशासन ने रातों-रात पंचायत समिति कार्यालय के कृषि विभाग में सैनिटाइजर अभियान चलाकर कार्यालय को कीटाणु मुक्त किया है। चार दिन पूर्व पंचायत समिति के कर्मियों का कोरोना परीक्षण कराया गया था, जिसमें विभाग के दो कर्मचारियों को कोरोना पॉजिटिव आने से पंचायत समिति कार्यालय में सनसनी फैल गई। सोमवार की देर शाम को पुष्टि होने पर प्रशासन ने पंचायत समिति कार्यालय के सभी कक्षों में सैनिटाइजर का छिड़काव कराया है। स्थानीय पंचायत समिति प्रशासन ने ग्रामीण इलाकों के नागरिकों को बिना कारण के पंचायत समिति कार्यालय में आने से बचने, सतर्क रहने, सैनिटाइजर का उपयोग करने, सामाजिक दूरी बनाए रखने, नियमित मास्क पहननें और कोरोना नियमों का पालन करने की सलाह दी है।

     गौरतलब है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते प्रभाव को कम करने और इलाज (Treatment) की समीक्षा करने केंद्रीय दल ने जिले के विभिन्न स्थानों पर मरीजों से बातचीत का सर्वेक्षण किया था। इसके बाद डीएम कार्यालय में समीक्षा बैठक भी हुई थी। बैठक को संबोधित करते हुए केंद्रीय समिति के सदस्य डॉ. रामप्रताप सैनी (Rampratap Saini) ने कहा कि चार तहसीलों में बढ़ता संक्रमण चिंताजनक है, इसे नियंत्रण करने के लिए जिला प्रशासन व्यापक पैमाने पर बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराकर होम क्वारंटाइन मरीजों (Home Quarantine Patients)को कोविड केअर सेंटर (Covid Care Center) में भर्ती कराएं। 

    इसके पहले, धुलिया ज़िले में कोरोना से हुई मौत के बाद अंतिम संस्कार कराने के लिए परिवार को 8 से 10 घंटे तक एंबुलेंस  का इंतजार करने के बाद भी प्रशासन एंबुलेंस की व्यवस्था नहीं करा पाया। जिसके चलते मृतक के अंतिम संस्कार के लिए अंतिम यात्रा कचरा संकलन करने वाले वाहन में परिवार को ले जाने पर विवश होना पड़ा था।