कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही जिले में प्रवेश

  • दूसरे प्रदेशों से आने वालें यात्रियों को कराना होगा कोरोना टेस्ट

धुलिया. कोरोना संक्रमण की रोकथाम करने स्थानीय प्रशासन ने सड़क रेल मार्ग से आने वाले बाहरी यात्रियों को कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव होने पर ही जिले में आने की अनुमति दी है. बिना अनुमति आने वालों पर कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश भी डीएम ने जारी किये हैं.

जिलाधिकारी कार्यालय में समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी संजय यादव ने कहा कि शहर समेत जिले में बाहरी राज्यों से आने वाले यात्रियों की कोरोना टेस्ट की जाएगी, जिसमें खास तौर पर दिल्ली, राजस्थान, गुजरात और गोवा से रेल और सड़क मार्ग से जिले में आने वाले हर एक यात्री का कोरोना वायरस का परीक्षण करने का निर्देश जिलाधिकारी संजय यादव ने संबंधित यंत्रणा को दिया है. दरमियान जिले में लॉकडाउन की अवधि 30 नवंबर तक बढ़ा दी गई है.

हवाई, रेल और सड़क से यात्रा करने वाले व्यक्तियों पर प्रतिबंध 

राज्य सरकार के दिशानिर्देशों के अनुसार महाराष्ट्र में हवाई, रेल और सड़क से यात्रा करने वाले व्यक्तियों पर प्रतिबंध लगाए गए हैं. तदनुसार जिलाधिकारी यादव ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के अनुसार 25 नवंबर से धुलिया जिले में रेल और सड़क से यात्रा करने वाले व्यक्तियों पर कुछ प्रतिबंध लगाए. इसके अनुसार दिल्ली, राजस्थान, गुजरात और गोवा समेत अन्य प्रदेशों से जिले में आने वाले यात्रियों के जिले के बार्डर पर ही कोरोना टेस्ट किए जाएंगे. इसके अलावा सड़क के रास्ते या ट्रेन से आने वाले यात्रियों को आरटीपीआर परीक्षण की नकारात्मक रिपोर्ट होने पर ही जिले की सीमा में प्रवेश दिया जायेगा.

इसी महाराष्ट्र में रेलवे से आने वाले यात्रियों को प्रवेश के 96 घंटे के भीतर आरटीपीसीआर परीक्षण के नमूने लिए जाने के निर्देश भी दिए, जिन यात्रियों के पास आरटीपीसीआर परीक्षण रिपोर्ट नहीं है, उनकी जांच की जायेगी. उनका तापमान मापा जाएगा. यह जिम्मेदारी रेलवे विभाग पर सौंपी गयी है. जिन यात्रियों के पास कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट नहीं है उनकी जांच होगी तथा कोरोना के लक्षण पाएं जाने पर यात्री को नियमों के नुसार तत्काल अपने शहर जाने के लिए कहा जाएगा या उसे कोविड केयर सेंटर में दाखिल किया जाएगा. इस दौरान यात्री पर आने वाला खर्च उसी से वसूला जाएगा. ऐसा भी निर्देश जिलाधिकारी यादव ने दिया है. 

सीमा निरीक्षण दल रखेगा नजर

जिले में बाहरी राज्यों से आने वालों की जांच पड़ताल तापमान नापने के लिए जिले की बार्डर पर हाड़ाखेड (तह. शिरपुर), कोंडाईबारी (तहसील साक्री) में एक निरीक्षण दल चौबीसों घंटे तैनात किया जाएगा. बिना लक्षणों वाले यात्रियों को ही जिले में आने की अनुमति दी जाएगी. जिन यात्रियों में कोरोना के लक्षण दिखाई दिए तो उसे वास अपने गांव लौटने का विकल्प होगा. नहीं तो कोरोना टेस्ट नकारात्मक होने के लक्षणों वाले यात्रियों को निकटतम कोविड देखभाल केंद्र में भर्ती कराया जायेगा. इस पर आने वाला खर्च संबंधित यात्रियों से वसूल किया जाएगा. आदेश का उल्लंघन करने वालों के लिए सजा का प्रावधान भी जिलाधिकारी ने रखा है.