बालक को जहरीले सांप ने काटा

तत्काल उपचार होने से बची बच्चे की जान 

जलगांव. डॉ. उल्हास पाटिल अस्पताल में बाल रोग विशेषज्ञ के त्वरित इलाज के कारण बच्चे की जान बच गई. बच्चे के परिजनों ने चिकित्सक का आभार प्रकट किया. मुक्ताई नगर स्थित हरताला ग्राम निवासी 10 वर्षीय बालक सैयद शरीफ सैयद बुरहान को जहरीला नाग किंग कोबरा ने दंश मार दिया था. मुक्ताईनगर तथा जलगांव के निजी चिकित्सकों ने कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण अस्पताल में भर्ती करने से इंकार कर दिया था. बालक के माता पिता ने तत्काल गंभीर अवस्था में  शरीफ को इलाज हेतु डॉ. उल्हास पाटील अस्पताल में भर्ती कराया. डॉ. उल्हास पाटिल अस्पताल के चिकित्सकों ने पल भर की देरी किए बिना मरीज को अस्पताल में भर्ती का इलाज शुरू कर दिया.बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. विनय पाटिल और डॉ. उमाकांत अणेकर ने जहर की रोकथाम करने तुरंत एंटी स्नेक वेनम का इस्तेमाल किया है, जिसके चलते अब मासूम बालक खतरे से बाहर है. 

डा. उल्हास पाटिल अस्पताल में हुआ उपचार

शरीफ को रात के समय कोबरा सांप ने काट लिया था. हर ताला मुक्ताईनगर के चिकित्सकों ने उसे तत्काल बड़े अस्पताल में भर्ती करने के निर्देश दिए थे जिसके चलते शरीर को डॉ उल्हास पाटील अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर चिकित्सकों कड़ी मेहनत कर उसका सुरक्षित इलाज किया है. विभिन्न सरकारी योजनाओं की जानकारी दी एक तरीके से किया अस्पताल नहीं देवालय हैं.