प्राचार्य ने विद्यालय में लगाई फांसी

  • घटना को लेकर मची सनसनी

जलगांव. नंदुरबार शहर के जिजामाता फार्मेसी कॉलेज के प्राचार्य ने महाविद्यालय में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. घटना को लेकर शहर में तहलका मच गया.जिले की यह पहली ही घटना है. मालूम हो कि घटना को अंजाम देने से पहले प्राचार्य द्वारा लिखा सुसाइड नोट पुलिस को मिल गया है.जिसके आधार पर पुलिस कानूनी कार्रवाई में लग गयी है.

पुलिस से मिली खबर के अनुसार जिजामाता शैक्षणिक संस्था द्वारा संचालित औषधि निर्माण(फार्मेसी)महाविद्यालय के प्राचार्य रवींद्र चौधरी(56)ने महाविद्यालय में ऊपर के कमरे में गले से रस्सी लगाकर आत्महत्या कर ली.दोपहर को यह बात सामने आयी. संस्था के कर्मचारियों की खबर के आधार पर उपनगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और लाश को नीचे उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

आत्महत्या के कारणों को खोजने में जुटी पुलिस

पुलिस का कहना है कि चौधरी द्वारा घटना को अंजाम देने से पहले लिखा सुसाइड नोट पुलिस को मिल गया है. जिसके आधार पर पुलिस कार्रवाई में लग गयी है. प्राचार्य ने महाविद्यालय में आत्महत्या क्यों की इसको लेकर सारे शहर में खलबली मची हुई है. घटना को लेकर महाविद्यालय में एक शोक सभा कर चौधरी को श्रद्धांजलि दी गयी.चौधरी शाहपुर गांव के रहनेवाले थे, इसलिए गमगीन माहौल में उनका गांव में ही अंतिम संस्कार किया गया.इस समय कई लोग मौजूद थे.