गुणवत्तापूर्ण हो घरकुल का काम : पाटिल

अमलनेर. तहसील में जहां भी घरकुल योजना (Gharkul Scheme) के तहत काम होने हैं, वे सभी काम गुणवत्ता पूर्ण और नई शैली से होने चाहिए। घरकुल के कामों में किसी की भी लापरवाही बरदाश्त नहीं की जायेगी। यह कहना है यहां के विधायक अनिल पाटिल का।

यहां के स्थानीय जीएस हाईस्कूल स्थित आईएमए हॉल में महा आवास अभियान का शुभारंभ समारोह आयोजित किया गया था। इस समारोह की अध्यक्षता करते हुए पाटिल उपस्थितों को संबोधित कर रहे थे। इस समय मंच पर पंचायत समिति के पूर्व सभापति श्याम अहिरे, पंचायत समिति सदस्य प्रवीण पाटिल, निवृत्ति बागुल, विनोद जाधव, राष्ट्रवादी तालुकाध्यक्ष सचिन पाटिल और तहसील के ग्रामसेवक और सरपंच उपस्थित थे।

ग्रामीण संभाग में 8 लाख घर बनाने का लक्ष्य

अपने प्रस्ताविक में गुट विकास अधिकारी संदीप वायाल ने बताया कि 20 नवंबर से 28 फरवरी तक लगभग 8 लाख घर ग्रामीण संभाग में बनाने का लक्ष्य है। राज्य और केंद्र सरकार की योजनाओं से यह घरकुल बनाये जाएंगे। अमलनेर तहसील में पहले ‘ब’ सूची से इसकी शुरुआत होगी। इसमें घरकुल लाभधारक को 100 फीसदी अमानत मंजूर की जाएगी। लाभधारक के पास अगर जगह नहीं है तो पंडित दीनदयाल उपाध्याय योजना से सरकार जगह खरीदकर देगी।

उत्कृष्ट घरकुलों को मिलेगा पुरस्कार

उत्कृष्ट घरकुलों को ग्राम पंचायत,तहसील,जिला स्तरीय पुरस्कारों से नवाजा जाएगा। इसलिए प्रदेश में अमलनेर घरकुल उत्कृष्ट रूप से निर्माण में प्रथम आना चाहिए। ऐसे प्रयास हम सभी को करने हैं। ऐसा वायाल ने ही कहा। इस समय पूर्व सभापति श्याम अहिरे ने कहा कि ग्रामसेवक जहां अच्छा काम करेंगे, वहां घरकुल निर्माण के काम अच्छे होंगे। एक घरकुल के लिए सरकार से लाभधारक को 1 लाख 35 हजार रुपये मिलेंगे।

ईमानदारी से होगा घरों का निर्माण

गांव के राष्ट्रीकृत बैंक गोद के रूप में 70 हजार रुपये कर्ज देगी।पंचायत समिति सदस्य प्रवीण पाटिल ने भी कहा कि घरकुल योजना का काम पूरी तरह से ईमानदारी से ही किया जाएगा। तरवाडे के सरपंच रामकृष्ण पाटिल ने बताया कि घरकुल निर्माण के दौरान जल्दी से रेत नहीं मिलती। इसलिए रेत की समस्या हल करनी चाहिए। घरकुल अच्छे से अच्छा बनाने की ओर हर सरपंच का ध्यान होता है, पर सरकारी स्तर से ही कई समस्याएं आती हैं।

विधायक पाटिल ने सरपंचों को तमाम समस्याएं हल करने का आश्वासन देते हुए कहा कि डेढ़ लाख तक की अमानत इन किश्तों में दी जाएगी। ग्रामसेवक,सरपंच घरों के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएंगे।इसके बाद पाटिल ने सरकारी यंत्रणा समेत पदाधिकारियों के कार्य की भी सराहना की। उन्होंने ग्रामीणों से भी आह्वान किया है कि बेवजह किसी सरकारी अधिकारी या लोक प्रतिनिधि पर लापरवाही का आरोप लगाना ठीक नहीं है।सरकारी कामों में समस्याएं आती हैं। इन समस्याओं को अधिकारी और पदाधिकारी जरूर हल करेंगे। ऐसा भी पाटिल ने कहा। इस समय सरपंचों की बड़ी संख्या में उपस्थिति थी।