दिव्यांगों को दें शीघ्र 5% निधि

अमलनेर. दिव्यांग भाइयों के विकास के लिए शहर दिव्यांग कल्याण योजना के तहत 5 % निधि रखी जाती है.यह निधि तत्काल वितरित करने की मांग राष्ट्रीय विकलांग पार्टी अमलनेर की ओर से की गयी है. इस मांग के लिए अमलनेर में पार्टी के पदाधिकारी इकट्ठा हुए और अपनी मांग के लिए आंदोलन करने की चेतावनी भी दी. पार्टी की ओर से जारी ज्ञापन में कहा गया है कि शहर दिव्यांग कल्याण योजना के लिए 5% निधि का वितरण होना चाहिए. यूडीआईडी के स्थायी प्रमाण पत्र लागू नहीं किया जाना चाहिए. क्योंकि शेष विकलांग व्यक्तियों को अभी तक यूडीआईडी के तहत स्थायी रूप से दाखिले नहीं मिले.

योजना का लाभ दिलाने का करें प्रयास

इस दरमियान कोरोना महामारी के चलते कई दिव्यांगों ने अभी तक दिव्यांग सर्टिफिकेट नहीं निकाले हैं. इसलिए शेष विकलांग व्यक्तियों को योजना से वंचित नहीं रखा जाना चाहिए. इस साल लगभग 205 विकलांग भाइयों को 5 प्रतिशत निधि देने की मांग उठाई है. पिछले वर्ष की तरह दिव्यांगों को दाखिलों के लिए ना भटकाते हुए तुरंत दाखिले उपलब्ध करवाने की व्यवस्था करनी चाहिए.इसके साथ ही उपलब्ध विकलांगता प्रमाण पत्र के आधार पर लाभार्थियों को तत्काल लाभ दिया जाना चाहिए. इस तरह की मांग का इससे पहले भी कई बार नगर परिषद के मुख्य अधिकारी को ज्ञापन दिए हैं पर अधिकारी ने इस मांग की ओर गंभीरता से ध्यान ही नहीं दिया. अब दिव्यांग भाइयों को सर्टिफिकेट और योजना के लाभ के लिए घुमाना नहीं चाहिए.

भीख मांगों आंदोलन की चेतावनी

अगर ऐसा होता है तो सभी विकलांग भाई भीख मांगों आंदोलन करेंगे.यदि विकलांगता कल्याणकारी योजना का लाभ नहीं दिया गया तो आंदोलन शुरू करने की प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी. इसके लिए पूरी तरह से सरकार जिम्मेदार होगी.ऐसा भी पदाधिकारियों ने बताया.इस अवसर पर राष्ट्रीय विकलांग पार्टी अमलनेर तहसील अध्यक्ष बिरजू चौधरी, शहर अध्यक्ष दीपक पाटिल, शहर उपाध्यक्ष करीम बागवान शहर सचिन राकेश पाटिल आदि उपस्थित थे.