तैयारियों का जायजा लेने रेलवे का मॉक ड्रिल

यात्रियों में फैली सनसनी

जलगांव. भुसावल से मुंबई की दिशा में जा रही वाराणसी – लोकमान्य टिलक विशेष गाड़ी सोमवार की दोपहर पटरी से उतर कर दुर्घटनाग्रस्त हो गई, इसमें बहुत से यात्री जख्मी हो गए. रेलवे कंट्रोल रूम को दोपहर 3:30 बजे यह सूचना मिली तो हड़कंप मच गया. एक्सप्रेस पैसेंजर गाड़ियों की दुर्घटना स्थिति से निपटने की तैयारियों और उपचार सुविधाओं का जायजा और क्षमताओं को देखने के मकसद से भुसावल मंडल के जलगांव रेलवे स्टेशन के बीच एक मॉक ड्रिल की गई.

एक घंटे रोकी गई ट्रेन

मॉक ड्रिल के कारण, वाराणसी – लोकमान्य टिलक विशेष गाड़ी को कुर्‍हादडा, कुरकुड नाला, दहा पुलाव  क्षेत्र में एक घंटे के लिए रोक दिया गया था. अचानक रेल रुकने से यात्रियों में सनसनी फैल गई. आख़िर क्या हुआ जो ट्रेन रुक गई. पौने चार बजे मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय स्थित नियंत्रण कक्ष को सूचना मिली कि दहा पुलाव क्षेत्र के पास पोल 403/26 के पास दो कोच पटरी से उतर गए हैं, इनमें यात्री भी हैं. बड़े हादसे की आशंका को देखते हुए सुबह मंडल रेल प्रबंधक सहित कई अधिकारी मौके पर पहुंच गए. साथ ही फायर ब्रिगेड, एम्बुलेंस व रेलवे मेडिकल रिलीफ ट्रेन भी पहुंच गई. इसके बाद पता चला कि यह असल में कोई ट्रेन दुर्घटना नहीं, बल्कि रेलवे ने हादसे के दौरान बचाव कार्य के लिए काल्पनिक अभ्यास (मॉक ड्रिल) किया था.

मौके पर पहुंचे रेलवे अधिकारी

इस समय मौके पर अपर मंडल रेल प्रबंधक मनोज कुमार सिन्हा , वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक युवराज पाटिल, वरिष्ठ परिचालन प्रबंधक आर के शर्मा, वरिष्ठ मंडल संरक्षा अधिकारी एन के अग्रवाल, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक सामंतराय, वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर लक्ष्मीनारायण, वरिष्ठ मंडल अभियंता ( समन्वय ) राजेश चिखले , सहायक विद्युत इंजीनियर आनंद भगत सहित अन्य सभी कर्मचारी तत्काल घटना स्थल पर पहुंचे थे.