जलगांव में रैपिड एंटीजन टेस्ट शुरू

  • संक्रमण पर काबू पाने स्वास्थ्य विभाग जुटा
  • इमरजेंसी केस के लिए फायदेमंद
  •  30 से 60 मिनट में मिल जाएगी रिपोर्ट 
  • 20 पोजिटिव मिले पहले दिन

जलगांव. महानगर में कोरोना के केस बढ़ रहे हैं.अब सैंपलिंग बढ़ाने के लिए महापौर भारती सोनवणे के निर्देश पर जिला स्वास्थ्य विभाग तैयारियों में जुटा है. इसके लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट किट मंगाई है. महानगर पालिका प्रशासन द्वारा संचालित कोविड अस्पताल में इस किट से टेस्टिंग भी शुरू हो गई है. इससे अब 30 से 60 मिनट में ही जांच रिपोर्ट भी आ जाएगी.

जलगांव में सबसे अधिक मौत

जलगांव शहर सहित ज़िले में कोरोना संक्रमण से देश में सबसे अधिक मौत जलगांव शहर में हुई है. संक्रमण के कारण ज़िले में हालत बेहद खतरनाक हो गए हैं. प्रतदिन डेढ़ सौ की संख्या में मरीजों का तांता जिले और शहर में लगा हुआ है.मरीजों को परीक्षण रिपोर्ट के लिए दो से तीन दिनों तक इंतजार की पीड़ा सहनी पड़ती थी और इलाज के अभाव में अनेक रोगियों की मौत प्रतिदिन हो रही थी जिसके चलते महापौर भारती सोनवणे ने जिला प्रशासन सहित सूबे की सरकार से जलगांव महानगर में एंटीजन रिपीट किट उपलब्ध कराने की मांग की थी.

1500 किट कराया गया उपलब्ध

सोमवार को ज़िला प्रशासन द्वारा महानगर पालिका के कोविड अस्पताल को कोरोना परीक्षण करने के लिए 1500 रिपीट एक्शन एंटीजन किट उपलब्ध कराने की जानकारी स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों ने दी.  पहले दिन 181 संदिग्धों के स्वैब की जांच की गई. जिसमें 20  व्यक्तियों की रपट पोजिटिव आई है.वहीं 161 की जांच  निगेटिव आयी है. डॉक्टरों के अनुसार इमरजेंसी केस के लिए रैपिड एंटीजन टेस्ट का फायदा है, क्योंकि इसकी रिपोर्ट तुरंत ही आ जाती है. हालांकि असल फायदा आरटीपीसीआर टेस्ट मशीन शुरू होने के बाद होगा, क्योंकि यह मशीन कोरोना संक्रमण के शुरुआती चरण में होने पर भी पता लगा लेती है. 

ज़िला कोविड अस्पताल भेजने पड़ रहे सैंपल

फिलहाल जिला के सिविल हॉस्पिटल में सिर्फ सैंपलिंग हेा रही है. यहां लैब नहीं होने के चलते शुरूआत में सैंपल लेकर पुणे भेजे जा रहे थे. बाद में धुलिया मेडिकल कॉलेज की लैब में भी भेजे जाने लगे. अभी भी यह सिलसिला जलगांव कोविड प्रयोगशाला में चल रहा है. इसी बीच अब यह सिलसिला मनपा के कोविड अस्पताल में एंटीजंन के किट के माध्यम से शुरू हुआ है. 

सुविधाएं उपलब्ध कराने का आश्वासन

इस मौके पर महापौर भारती सोनवणे ने मनपा पदाधिकारी की उपस्थिति में मनपा कोविड केयर सेंटर के क्वारनटाइन कक्ष का निरीक्षण किया. इस अवसर पर  नगरसेवक कैलास सोनवणे, उपगट नेता राजेंद्र पाटिल, विशाल त्रिपाठी, सचिन पाटिल, विजय वानखेडे, भापसे आदि उपस्थित थे. महापौर ने संदिग्धों से बातचीत की अस्पताल में होने वाली समस्याओं को सुना और बेहतर इलाज और सुविधाएं मुहैया कराने का आश्वासन दिया.