फीका-फीका रहेगा इस बार नवरात्रोत्सव

  • सादगी से घरों में नवरात्रौत्सव मनाने डीएम ने की अपील

जलगांव. जिलाधिकारी अभिजीत राउत ने कोरोना संक्रमण के कारण ज़िला वासियों से इस साल नवरात्र पर्व सादगी से घरों में मनाने की अपील की है. जिला नियोजन भवन में सार्वजनिक नवरात्र के लिए हुई समन्वय समिति की बैठक को  राउत संबोधित कर रहे थे. बैठक में ज़िला पुलिस अधीक्षक डॉ. प्रवीण मुंढे, महानगर पालिका आयुक्त सतीश कुलकर्णी, अपर जिलाधिकारी प्रवीण महाजन, अपर पुलिस अधीक्षक चंद्रकांत गवली, सचिन गोरे, उप प्रादेशिक परिवहन अधिकारी श्याम लोही, निवासी उप जिलाधिकारी राहुल पाटिल आदि उपस्थित  थे.

मंडल पदाधिकारी करें निर्देशों का पालन

अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए जिला कलेक्टर ने कहा कि नवरात्र मनाते समय मंडल के पदाधिकारियों को सरकार के निर्देशों का पालन करना चाहिए. अनुशासन और उत्साह के साथ पर्व मनाएं. इस उत्साह के माध्यम से, सरकार को मेरे परिवार, मेरी ज़िम्मेदारी, अभियान और देखभाल के लिए कोरोना के बारे में नागरिकों में जागरूकता पैदा करनी चाहिए. आरती करते समय सामाजिक दूरी बनाए रखें, भीड़ जमा न करें, मंडल के पांच कार्यकर्ताओं द्वारा ही आरती निर्धारित की जाए. जिले में कोरोना संक्रमण नियंत्रण में आ रहा है. संक्रमण बढे़ और फैले नहीं इसके लिए सब सावधानी बरतें.

सांप्रदायिक सद्भाव के साथ बनाए रखें भाईचारा

डीएम राउत ने कहा कि त्योहार को इस तरह से मनाया जाना चाहिए ताकि सांप्रदायिक सद्भाव के साथ-साथ भाईचारा भी बना रहे. जलगांव जिले के सभी मंडलों के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने सामाजिक गतिविधियों में अच्छा योगदान दिया है. इस परंपरा को इस त्योहार में भी बरकरार रखें. नागरिकों से जबर्दस्ती चंदा जमा न किया जाए और दुर्गा पूजा अर्चना के अवसर पर रक्तदान शिविर आयोजित करने का आव्हान पुलिस अधीक्षक प्रवीण मुंडे ने किया.

थानों में शुरू होगी एक खिड़की योजना

भक्तगण मंडलों की अनुमति के लिए परेशान न हों, इसके लिए सभी पुलिस थानों में एक खिड़की योजना लागू की जाएगी.यहां से उन्हें आवश्यक अनुमति दी जाएगी.प्रदूषण नियंत्रण करने के लिए मूर्ति संग्रह केंद्र स्थापित किए जाएंगे. सार्वजनिक मंडलों द्वारा प्रशासन को सहयोग कर मूर्ति दान करें.

डांडिया पर पूरी तरह से प्रतिबंध

कोरोना संक्रमण के कारण इस साल सार्वजनिक आगमन और विसर्जन समारोह पर प्रतिबंध लगाया गया है, इसलिए जुलूस नहीं निकाला जा सकता है. गरबा, डांडिया कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जा सकते.

आनलाइन दर्शन की हो सुविधा

यह सुनिश्चित करना चाहिए कि कार्यक्रम स्थल पर भीड़ न हो, इसका ख्याल मंडलों के पदाधिकारी को रखना होगा. सैनिटाइज़र को तम्बू के पास रखा जाना चाहिए, सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए देखभाल टीम का गठन किया जाए और भक्तों को ऑनलाइन दर्शन की सुविधा उपलब्ध कराएं. इस अवसर पर उपविभागीय अधिकारी प्रसाद मते, राजेंद्र कचरे, विनय गोसावी, सातालकर, उपविभागीय पुलिस अधिकारी ईश्वर कातकाडे सहित जिले के अन्य  उपविभागीय अधिकारी, उपविभागीय पुलिस अधिकारी, तहसीलदार, सभी पुलिस स्टेशन प्रभारी, विविध मंडल पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद थे.

विसर्जन के लिए मेहरुन झील के पास आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. लेकिन अधिक भीड़ न उमड़े, इस पर सरकारी अधिकारियों एवं मंडल पदाधिकारियों को ध्यान देने की जरूरत है.

-सतीश कुलकर्णी, मनपा आयुक्त

प्रशासन की अनुमति के बिना पंडाल लगाने वालों पर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी. इससे बचने के लिए आवश्यक कानूनी प्रक्रिया समय रहते पूरी करें.

-राहुल पाटिल, निवासी डिप्टी कलेक्टर  

जिले में कोरोना संक्रमण का प्रकोप कम हुआ है, लेकिन अभी पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है. इसलिए नवरात्र त्योहार मनाते समय सभी को कोरोना नियमों का कड़ाई से पालन करने की जरूरत है. पंडालों में जाने से पहले मास्क लगाना और डिस्टेंसिंग का पालन करना न भूलें. सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ से बचने के लिए सभी को प्रयास करना चाहिए.