जलगांव-धुलिया हाइवे पर बनेगा ट्रामा सेंटर

  • घायलों का होगा तत्काल इलाज

जलगांव. सड़क दुर्घटनाओं में घायल यात्रियों को तत्काल उपचार उपलब्ध कराने के लिए जलगांव-धुलिया राष्ट्रीय राजमार्ग पर एरंडोल या पारोला शहर में एक ट्रामा केयर सेंटर शुरू होने जा रहा है. जिलाधिकारी अभिजीत राउत ने इस संबंध में जिला सिविल सर्जन को तत्काल राजमार्ग विभाग को एक प्रस्ताव प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है.

जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक अभिजीत राउत की अध्यक्षता में जिला कलेक्टर कार्यालय के सभागार में हुई. इस समय जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ.बी एन पाटिल,परियोजना निदेशक, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण सी एम सिन्हा, उप क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी श्याम लोही,परिवहन शाखा के पुलिस निरीक्षक देवीदास कुनगर, लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता प्रशांत सोनवणे, उप-अभियंता स्वाती भीरुड और महानगर पालिका के अधिकारी उपस्थित थे.

हेल्मेट सख्ती की आवश्यकता

जिले में दुर्घटनाओं की संख्या को कम करने के लिए, सभी सरकारी, अर्ध-सरकारी, स्थानीय सरकारी कार्यालयों, बड़े प्रतिष्ठानों, एमआईडीसी में उद्योगों, विश्वविद्यालयों, कॉलेजों में विभिन्न काम के लिए आने वाले नागरिक, छात्रों को बिना हेलमेट, नो एंट्री के सिद्धांत को अपनाने के निर्देश दिए जाने चाहिए.यह सभी के लिए हेल्मेट की आवश्यकता सख्ती से होनी चाहिए. एसटी कॉर्पोरेशन की बसें अपने तय-निर्धारित स्टॉप पर नहीं रुकतीं, इसलिए दुर्घटनाएं भी होती हैं. इसके लिए सभी ड्राइवरों को बस स्टॉप पर ही गाड़ियां रोकने के निर्देश देने का आदेश जिलाधिकारी ने दिया. इसके साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग विभाग को दुर्घटनाओं के स्थानों का संकेत देनेवाले दिशा दर्शक लगाने का आदेश भी दिया.

दुर्घटनाओं में 23% की कमी

बैठक में अधिकारियों ने बताया कि पिछले साल की तुलना में इस साल जिले में दुर्घटनाओं की संख्या में 23% की कमी आई है. अगस्त 2019 तक जिले में 589 दुर्घटनाओं में 308 लोग मारे गए और 593 घायल हुए.अगस्त 2020 में 453 दुर्घटनाएं हुईं जिसमें 301 लोग मारे गए और 332 घायल हुए हैं.

फागने-तरसोद कार्य में तेजी लाएं

तरसोद-चिखली सड़क पर काम जोरों पर चल रहा है. ठीक इसी तरह से फागने-तरसोद सड़क पर काम तेजी से पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं. वाहन चालकों के लिए आवश्यक दिशा-निर्देशक जगह-जगह लगाने का आदेश भी जिलाधिकारी ने दिया.जिला कलेक्टर ने महानगर पालिका अधिकारियों को सूचित किया कि सड़क के बीच या किनारे पर बिजली के खंभे अगर हों और इससे यातायात पर बुरा असर पड़ रहा हो या लोगों को दिक्कतें हो रही हों तो खंबे तत्काल हटाए जायें. जलगांव-धुलिया सड़क पर बड़ी संख्या में गड्ढे हुए हैं, इन गड्ढों को तुरंत भरने का भी निर्देश जिलाधिकारी ने बैठक में दिया.