भाजपा ने किया सत्ता का दुरुपयोग, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार का आरोप

पिंपरी. गत 8 माह से भारत समेत पूरे विश्व में कोरोना का महासंकट छाया हुआ है. महाराष्ट्र में इस संकट से उबरने के लिहाज से महाविकास आघाड़ी सरकार हर संभव कोशिश में जुटी है. यह बताकर उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने रविवार को पिंपरी-चिंचवड़ में राष्ट्रवादी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि बीते 5 साल यानी भाजपा सरकार के कार्यकाल में सत्ता का दुरुपयोग किस तरीके से किया गया, यह राज्य की सारी जनता ने देखा है. 

इससे पहले भी राष्ट्रवादी कांग्रेस, कांग्रेस समेत पुरोगामी विचारों की सरकार कई बार थी, लेकिन कभी सत्ता की मस्ती नहीं चढ़ने दी, न कभी सत्ता का दुरुपयोग किया गया.

जयंत आसगांवकर के लिए स्नातक चुनाव प्रचार

पुणे स्नातक चुनाव क्षेत्र से महाविकास आघाडी के प्रत्याशी अरुण लाड और शिक्षक चुनाव क्षेत्र के प्रत्याशी प्रा. जयंत आसगांवकर के प्रचार के लिए चिंचवड के प्रो रामकृष्ण मोरे प्रेक्षागृह में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का सम्मेलन आयोजित किया गया था. इसमें उन्होंने आगे कहा कि भाजपा के शासनकाल में सत्ताधारियों के आशीर्वाद से पिंपरी -चिंचवड शहर में कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ती रही. जब महाविकास आघाडी सरकार आयी तब 6 माह में ही पुलिस कमिश्नर, जिलाधिकारियों के तबादले किये. अब शहर में दहशत फैलाने वालों को बिल्कुल भी न बख्शा जाए, यह निर्देश आचार संहिता से पहले ही पुलिस कमिश्नर को दिए गए हैं. राज्य में सुरक्षित माहौल बना रहे, महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस दल के बारे में एक आदरयुक्त भय निर्माण होना चाहिए. इसके लिए पुलिस अधिकारियों को छूट दी गई है. उन्हें किसी भी सियासी हस्तक्षेप का सामना नहीं करना होगा. इस सम्मेलन के मंच पर श्रम मंत्री दिलीप वलसे-पाटील, सांसद अमोल कोल्हे, पार्टी के पिंपरी-चिंचवड़ शहराध्यक्ष संजोग वाघेरे, विधायक आण्णा बनसोडे, पूर्व विधायक विलास लांडे आदि उपस्थित थे.

सभागृह में की जा रही मनमानी

पिंपरी-चिंचवड मनपा में भाजपा की सत्ता है. बहुमत के जोर पर सभागृह में मनमानी की जा रही है. कई जगहों पर जमीन कब्जे में न रहते हुए भी विकास काम शुरू किये गए हैं. आचार संहिता के हटने के बाद मनपा कमिश्नर और संबंधित अधिकारियों से इसका जवाब मांगा जाएगा. कोरोना का प्रभाव कम होने के बाद हर सप्ताह शहर के मसलों की समीक्षा की जाएगी. पवार ने आगे कहा कि राज्य में 5 जगहों पर विधानपरिषद की स्नातक और शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव हो रहे हैं.

महाविकास आघाड़ी की जीत का दावा

नागपुर, अमरावती, औरंगाबाद, पुणे स्नातक और पुणे शिक्षक चुनाव क्षेत्र सभी जगह महाविकास आघाडी एकजुट होकर प्रचार में जुटी हुई है. महाविकास आघाडी सरकार का यह पहला चुनाव है. 5 में से अमरावती छोड़कर अन्य 4 जगहों पर हमारे प्रत्याशी पहले नंबर पर है, ऐसे में मतदान आसान है. मगर विपक्ष ने अरुण लाड नाम का डमी प्रत्याशी मैदान में उतारा है, ऐसे में बेफिक्री में न रहें. यहां शरद पवार को मानने वाला वर्ग है. विपक्ष ने तीन टर्म यहां क्या विकास किया? यह लोगों को अच्छे से पता है, यह टिप्पणी भी उन्होंने की.