इन डिज़ाइन्स की रंगोलियों से सजाएं त्यौहार में अपना घर

दीपावली का त्यौहार अपने साथ बहुत सारी खुशियों को लाता है। इस त्यौहार के लिए लोग बहुत सी शॉपिंग भी करते हैं, साथ ही अपने घर को सजाते भी हैं। डेकोरेशन के लिए पेपर आर्ट और फूलों के अलावा लोग रंगोली का भी प्रयोग करते हैं। रंगोली घर के आंगन की शोभा को दुगना कर देती है। रंगोली बनाना भी एक खास परंपरा मानी जाती है। अगर आप भी रंगोली बनाने के कुछ सिम्पल डिज़ाइन ढूंढ रहे हैं, तो आज हम आपके लिए लाए हैं कुछ आसान डिज़ाइन…

दीपों की रंगोली –

दीपावली पर दीपों की रंगोली की बात ही अलग होती है। यह आपके आंगन को प्रकाश से भर देते हैं। दीपों की रंगोली दिखने में बेहद सुंदर होती है। महक के लिए आप खुशबूदार दीपों का प्रयोग भी कर सकते हैं।

फूलों की रंगोली – 

रंगोली में सबसे खास मानी जाती है फूलों की रंगोली। यह दिखने में बेहद खूबसूरत होती हैं। साथ ही इसे बनाने का तरीका भी बेहद शानदार होता है। आप रंग-बिरंगे फूलों का उपयोग कर एक सुंदर सी रंगोली बना सकते हैं। इसकी महक से आपके मन को बेहद शांति मिलती है। इस तरह की रंगोली खासतौर से दक्षिण भारत में बनाई जाती है। लेकिन अब इसका प्रयोग हर जगह होने लगा है। 

मांडना-

मांडना एक पुरानी परंपरा वाली रंगोली है। जिसे आज भी आंतरिक इलाकों में बनाए जाते हैं। यह घर के आंगन या फर्श पर प्राकृतिक रंगों का उपयोग कर बनाए जाते हैं। मांडने की एक खासियत यह भी है, कि यह लंबे समय तक बने रहते हैं। इसे बनाने के लिए गीले रंगों का प्रयोग किया जाता है, जो सूखने के बाद लंबे समय तक रहते हैं। 

सांचों से बनी रंगोली – 

आज कल रंगोली बनाने के लिए बाज़ार में उपलब्ध अलग-अलग तरह के के सांचे भी मौजूद है। जिसकी मदद से आप अलग तरह के रंगोली की डिज़ाइन भी बना सकते हैं। इन सांचो की मदद से आपका बहुत टाइम भी बचता है और मेहनत भी कम लगती है। 

प्राकृतिक रंगोली – 

अगर आप बाजार में मिलने वाली रंगों का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं, तो घर में प्राकृतिक रंगोली तैयार कर सकते हैं। इसके लिए आप घर पर ही सूजी व चावल के आटे को अलग-अलग रंगों में रंग सकते हैं।