Global Handwashing Day 2020: कोरोना से सुरक्षा के साथ ही इसलिए भी हाथ धोना है जरुरी

नई दिल्ली. हर साल ‘ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे 15’ (Global Handwashing Day 2020) अक्टूबर को मनाया जाता है। यदि अपने हाथों को बार-बार धोते हैं तो आप कम बीमार पड़ेंगे। कोरोना वायरस  ने पूरे विश्व में कोहराम मचा रखा है। अब तक कोरोना के संक्रमण (Coronavirus)से बचने के लिए कोई इलाज उपलब्ध नहीं है, ना ही कोविड 19 का कोई टीका ही विकसित हो पाया है। महामारी को देखते हुए डॉक्टर्स लोगों को हाथ धोते रहने की सलाह दे रहे हैं। साथ ही लगातार सैनिटीज़र का इतेमाल करने का सुझाव दिया जा रहा है। खाना खाने से पहले, खाना खाने के बाद हाथ जरूर वॉश करें। तभी आप और आपका परिवार बीमारियों से महफूज रह सकता है।

कोरोनाकाल में हाथ धोने की अहमियत और ज्यादा बढ़ गई है। डॉक्टर और विशेषज्ञ सलाह दे रहे हैं कि आप को तंदुरुस्त रहना है, तो बार-बार हाथ धोएं। आप जानते हैं कि हैंड वॉश करके श्वसन और आंतों के रोगों को 25-50 फीसदी तक कम किया जा सकता है।

ग्लोबल हैंड वॉशिंग डे की स्थापना 2008 में स्वीडन में की गई थी। ग्लोबल हैंडवॉशिंग पार्टनरशिप ने स्वीडन में आयोजित वर्ल्ड‍ वॉटर वीक में इस दिन की शुरुआत की थी, जिसका मकसद साबुन से हाथ धोने के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाना था। इस दिन को सेलिब्रेट करने के लिए हर साल कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है, जिसका खास मकसद लोगों को हाथ धोने की अहमियत बताना है। हाथों की सफाई पर हैंडवॉशिंग कार्यक्रम चलाने वाले मध्य प्रदेश का नाम 2014 में गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया था।

‘ग्लोबल हैंडवाशिंग डे’ अभियान का उद्देश्य 

  • ग्लोबल हैंडवाशिंग डे का उद्देश्य साबुन से हाथ धोने के प्रथा को बढ़ावा और समर्थन देना है।
  • देश में साबुन से हाथ धोने की अहमियत बताना और लोगों को हाथ धोने के फायदों के प्रति जागरूक करना।
  • बाल मृत्यु दर, सांस से संबंधित बीमारियां और डायरिया पर नियंत्रण के लिए इस अभियान की शुरुआत की गई थी। हाथ धोना एक अच्छी आदत है, जिसकी बदौलत हम कई बीमारियों, जैसे कोरोनावायरस, डायरिया और निमोनियां आदि से महफूज रह सकते हैं।
  • साबुन से हाथ वॉश करना एक आसान काम है, जिसके जरिए सांस से संबंधित रोगों से होने वाली मृत्यु का आंकड़ा 25% तक कम किया जा सकता है। जबकि डायरिया से होने वाली मौत में 50% तक की कटौती की जा सकती है।
  • दुनियाभर में 60% से ज्यादा स्वास्थ्य कार्यकर्ता हाथ धोने के नियमों का पालन नहीं करते। यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, अमेरिका में भी स्वास्थ्य की देखभाल करने वाले अधिकारी अपने हाथों की सफाई पर ठीक से ध्यान नहीं देते।