हंता वायरस क्या है? जाने इस बीमारी के लक्षण

कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में लाखों लोग सक्रमित हुए है। इसके चलते कई देश इस समय लॉकडाउन में है। इस बिच सोशल मिडिया पर एक और वायरस के नाम की चर्चा शुरू हुई। इसका नाम है 'हंता वायरस'. मंगलवार को इस

कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में लाखों लोग सक्रमित हुए है। इसके चलते कई देश इस समय लॉकडाउन में है। इस बिच सोशल मिडिया पर एक और वायरस के नाम की चर्चा शुरू हुई। इसका नाम है ‘हंता वायरस’. मंगलवार को इस वायरस से चीन में एक व्यक्ति की मौत हुई थी। बताया जा रहा है कि, हंता वायरस का प्रसार चूहों से होता है। 

चीन के ग्लोबल टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, हंता वायरस के कारण 23 मार्च को एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। मृतक एक बस में यात्रा कर रहा था, इसलिए बस में बैठे सभी यात्रियों का परीक्षण किया जा रहा है।

कैसे फैलता है हंता वायरस?
अमेरिका के सेंटर फॉर डिसीज की एक रिपोर्ट के अनुसार, हंता वायरस चूहों से फैलता है। यदि कोई चूहे के मल और लार के संपर्क में आता है, और फिर वही हाथ व्यक्ति अपने चेहरे पर लगाया तो इस वायरस से संक्रमित हो सकता है। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संक्रमित नहीं होता। किसी व्यक्ति को हंता वायरस संक्रमित हुआ है या नहीं यह जानने के लिए एक से आठ सप्ताह का समय लगता हैं। 

हंता वायरस के लक्षण

  • यदि किसी व्यक्ति को हंता की बाधा हुई है, तो उसे बुखार, शरीर में  दर्द, सर्दी, उल्टी जैसे लक्षण दिखाई देते है। 
  • इस वायरस से कोई व्यक्ति गंभीर हो जाता है, उसके फेफड़ों को सांस लेने में परेशानी होती है। 

2019 में लैटिन अमेरिका के एक क्षेत्र पेटोगोनिया में हंता वायरस के संक्रमण से 9 लोगों की मौत हुई थी। जिसके बाद पर्यटकों को इस जगह पर नहीं जाने की अपील की गई थी। सीडीसी के अनुसार, हंता वायरस के कारण मृत्यु दर 38 प्रतिशत हैं। बता दें कि, इस बीमारी पर अभीतक कोई दवा नहीं बनी है।